कोटद्वार, [जेएनएन]: बेटे ने शाल ओढ़ाया तो पिता की आंखें नम हो गईं। मंगलवार को एक कार्यक्रम में नजीबाबाद (उप्र) पहुंचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ अपने पिता आनंद सिंह बिष्ट से मिले। करीब दस मिनट की मुलाकात में योगी ने पिता के स्वास्थ्य की जानकारी ली और परिजनों की कुशल क्षेम भी पूछी। पिता-पुत्र की छह माह में यह दूसरी मुलाकात है।

कोटद्वार से 25 किलोमीटर दूर नजीबाबाद (बिजनौर, उत्तर प्रदेश) की किसान चीनी सहकारी मिल में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्य अतिथि थे। इस अवसर पर आयोजकों ने योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट को भी आमंत्रित किया। गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ पौड़ी जिले में यमकेश्वर ब्लाक के ग्राम बिथ्याणी के रहने वाले हैं।

करीब अस्सी वर्ष के आनंद सिंह बिष्ट अपने पोते अविनाश मोहन बिष्ट व मित्र प्रकाश जोशी के साथ कार्यक्रम में पहुंचे थे। आयोजकों ने उन्हें अतिथि कक्ष में  बिठा दिया। कार्यक्रम संपन्न होने के बाद योगी कक्ष में पहुंचे। पुत्र को देखते ही आनंद भावुक हो गए। 

पुत्र ने भी पिता के इस भाव को समझा। मुख्यमंत्री ने पिता का हालचाल पूछा और इसके बाद उन्हें शॉल ओढ़ाया। कुछ देर उन्होंने भतीजे अविनाश और पिता के साथ आए प्रकाश जोशी से भी बातचीत की। इस दौरान उन्होंने पिता को लखनऊ भी आमंत्रित किया।

नजीबाबाद से लौटे आनंद ङ्क्षसह बिष्ट ने बताया कि एक पिता के लिए इससे अधिक गौरव क्या हो सकता है कि उसका बेटा मुख्यमंत्री है। बेटे से क्या बात हुई, पूछने पर वह कहते हैं 'पिता होने के नाते मैं सिर्फ आशीर्वाद ही दे सकता हूं। बाकी घर परिवार की बात ही हुई।

यह भी पढ़ें: केदारनाथ में फिर छलका पीएम का दर्द, यूपीए पर जमकर बरसे

यह भी पढ़ें: पीएम का सुझाव, केदारनाथ मंदिर के पीछे न हो कोई निर्माण

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस