जागरण टीम, गढ़वाल: कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन के दूसरे दिन पहाड़ में मंगलवार को पुलिस-प्रशासन ने सख्ती दिखाई, जिसके बाद लोग भी सड़कों पर कम नजर आए। सब्जियों और अन्य जरूरी चीजों की दुकानें अधिकांश जगह सुबह सात से दस बजे तक खोली गई, हालांकि कुछ जगह दुकानें साढ़े सात बजे खुली। इसके बाद लोगों ने जरूरी चीजों की खरीदारी की। नियम तोड़ने पर उत्तरकाशी में पच्चीस वाहनों जबकि पौड़ी में पांच वाहनों का चालान किया गया।

उत्तरकाशी : उत्तरकाशी सहित पुरोला, बडकोट, नौगांव, डामटा, बर्नीगाड, चिन्यालीसौड़, डुंडा, धौतरी में मंगलवार की सुबह साढ़े सात बजे तक कोई भी दुकानें नहीं खुली थी। मंगलवार सुबह पुलिस ने अनाउंसमेंट कर आवश्यक सामग्री की दुकानों के खुलने का तय समय बताया, जिसके बाद आठ बजे के करीब राशन, सब्जी, मेडिकल, दूध डेरी की दुकानें खुली। जरूरी सामान खरीदने वालों की भीड़ भी जुटी। दस बजे के बाद जिन व्यापारियों ने दुकानें बंद नहीं की, उनकी दुकानों को पुलिस ने बंद करवाया। बेवजह बाजार में घूमते नजर आए युवकों पर पुलिस ने लाठियां भी चलाई। दोपहर दो बजे तक नियम तोड़ने वाले 25 लोगों को हिरासत में लिया। दस वाहन सीज किए तथा 15 वाहनों के चालान कटे।

गोपेश्वर: लॉकडाउन के दूसरे दिन बैंक समेत अन्य प्रतिष्ठानों को सुबह सात बजे से दस बजे तक खुला रखा गया, जिससे लोगों को राहत मिली है। जिले की अन्तर्राज्यीय सीमाओं को भी पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। जिलाधिकारी स्वाति एस. भदौरिया ने बताया कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाएगा। उधर, पोखरी में सुबह दूध की आपूर्ति नहीं हो सकी।

नई टिहरी: लॉकडाउन के दूसरे दिन पुलिस ने सख्ती दिखाई तो सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। सुबह दस बजे के बाद सड़कें सुनसान दिखी। उसके बाद भी जो इक्का-दुक्का लोग सड़कों पर दिखे पुलिस ने सभी के वाहन सड़कों पर खड़े करा दिए और लोगों को पैदल ही घर भेजा। नगर पालिका नई टिहरी अध्यक्ष के सरकारी वाहन में भी सिर्फ चालक के मिलने पर एसएसपी ने वाहन को खड़ा करवा दिया। कुछ देर बाद चालक को पास बनाने के निर्देश देकर छोड़ा गया। एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने लॉकडाउन की कमान खुद संभाली और सड़कों पर उतरे। सुबह सात से दस बजे तक लोगों ने बाजार में आकर जरुरी सामान खरीदा और उसके बाद बाजार बंद करा दिए गए।

रुद्रप्रयाग: लॉकडाउन के दूसरे दिन जिले में 10 बजे बाद पूरी तरह सन्नाटा पसर गया। हालांकि इस बीच बाहरी क्षेत्रों से इक्के-दुक्के वाहन जरूर आए, लेकिन इसके अलावा पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा। मंगलवार सुबह 7 से 10 बजे तक ही जिले में राशन, सब्जी समेत कई आवश्यक वस्तुओं की आपूíत हो सकी। 10 बजे बाद पुलिस ने जिले में राहगीर, प्राइवेट के साथ ही काíमशल वाहनों पर भी कार्रवाई की गई। डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि शासन के आदेशा का पूरी तरह पालन कराया जा रहा है। एसपी नवनीत सिंह ने बताया कि जिले में 10 बजे बाद जिले में किसी भी वाहन को बेवजह घूमने नहीं दिया जाएगा। सभी लोग अपने घरों में ही रहे, जिससे कोरोना से बचाव हो सके।

पौड़ी: मंगलवार को शहर के कोटद्वार रोड, श्रीनगर रोड, एजेंसी चौक, अपर बाजार, लोअर बाजार, धारा रोड में सुबह के वक्त जरूरी चीजों की दुकानें खोली गई। लोगों की आवाजाही रोकने के लिए पुलिस मुस्तैद रही। लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर पांच वाहनों को सीज भी किया गया, जिसमें चार दो पहिया वाहन शामिल हैं। कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर बस स्टेशन व टैक्सी प्वाइंटों से वाहनों का संचालन भी पूरी तरह ठप रहा। इससे शहर में सन्नाटा रहा। जिलाधिकारी दिनभर फीडबैक लेते रहे। पुलिस ने दो बाइक की सीज, 13 का चालान

श्रीनगर गढ़वाल: लॉकडाउन की व्यवस्थाओं का उल्लंघन पर शहर में पुलिस ने दो बाइकों को सीज कर 13 अन्य वाहनों का चालान किया और मौके पर ही 6500 रुपए का अर्थदंड भी वसूला।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस