संवाद सहयोगी, पौड़ी: कोट विकासखंड के कोटा गांव के समीप भालू ने पांच महिलाओं को हमला कर घायल कर दिया। घायलों को जिला चिकित्सालय लाया गया, जहां डॉक्टरों ने दो महिलाओं की स्थिति को गंभीर बताते हुए एम्स ऋषिकेश रेफर कर दिया। जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल ने घायलों को एयर लिफ्ट कर एम्स भेजने की व्यवस्था की। शाम करीब चार बजे गंभीर रूप से घायल महिलाओं को हेलीकॉप्टर से ऋषिकेश एम्स भेजा गया।

सोमवार को पौड़ी मुख्यालय से सटे कोट ब्लॉक के कोटा गांव निवासी दुर्गी देवी, किशोरी देवी, नौगांव निवासी मीना देवी, सुम्मी देवी, पित्तू गांव निवासी तामेश्वरी देवी पर भालू ने हमला कर दिया, जिससे वह घायल हो गई। ये सभी महिलाएं गांवों के पास ही जमरी भैलतोक में बकरी चराने व घास के लिए गई थी। इसी दौरान भालू ने अचानक इन पर हमला कर दिया। महिलाओं के चिल्लाने पर ग्रामीण जंगल पहुंचे। शोरशराबा होने पर भालू भाग गया। घायल महिलाओं को ग्रामीण निजी वाहनों से जिला चिकित्सालय उपचार के लिए लाए, जहां चिकित्सकों ने किशोरी देवी, तामेश्वरी देवी व सुम्मी देवी की स्थिति खतरे से बाहर बताई, जबकि दुर्गी देवी व मीना देवी की गंभीर स्थिति को देखते हुए एम्स ऋषिकेश रेफर कर दिया। सड़क मार्ग पर जाम की स्थिति की संभावना को देखते हुए ग्रामीणों ने घायलों को एम्स ले जाने के लिए जिलाधिकारी से हेली की व्यवस्था करने की मांग की। जिलाधिकारी की ओर से हेलीकॉप्टर की व्यवस्था किए जाने पर घायल महिलाओं को एम्स भेजा गया।

ग्रामीणों ने वन विभाग की लापरवाही के खिलाफ रोष जताया। ग्रामीणों ने वन विभाग के अधिकारियों से भालू के आतंक से निजात दिलाने की मांग की। ग्रामीणों ने मौके पर ही प्रत्येक घायल को 50-50 हजार की आर्थिक सहायता की मांग भी की। जिला चिकित्सालय परिसर में मौजूद वन क्षेत्राधिकारी अनिल भट्ट ने कहा कि नियमानुसार पीड़ितों की मदद की जाएगी। भट्ट ने कहा कि प्रभावित क्षेत्र में टीम भेजी जा रही है। भालू के हमले में घायल महिलाओं के लिए महाकाल सेना मददगार बनी। महाकाल सेना के कार्यकर्ता घायल महिलाओं को अपने वाहनों से जिला चिकित्सालय लाए।यहां पर भी महाकाल सेना पूरे दिनभर घायल महिलाओं के साथ रही। महाकाल सेना के कार्यकर्ताओं ने ही डीएम से हेली की व्यवस्था किए जाने की मांग की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस