जागरण संवाददाता, श्रीनगर गढ़वाल :

श्रीनगर से लगभग 14 किमी दूर बलोड़ी में ऋषिकुल वेलफेयर सोसाइटी की ओर से आचार्य अमलानंद जुयाल आदर्श संस्कृत विद्यालय शुरू होने जा रहा है। यह संस्कृत विद्यालय उत्तराखंड संस्कृत शिक्षा परिषद के नियमों के तहत संचालित होगा। विद्यालय में संस्कृत के साथ ही अंग्रेजी और कम्प्यूटर की शिक्षा भी छात्रों को दी जाएगी।

विद्यालय के प्रबंधक अनुसूया प्रसाद जुयाल ने बताया कि संस्कृत छात्रों के सर्वांगीण विकास को लेकर योग, वेदपाठ की शिक्षा देने के साथ ही विद्यालय में वास्तुशास्त्र और ज्योतिष विज्ञान वैकल्पिक विषयों के रूप में पढ़ाए जाएंगे। यहां कक्षा प्रथम वर्ष (छठी), द्वितीय वर्ष (सातवीं), तृतीय वर्ष (आठवीं) और पूर्व मध्यमा प्रथम वर्ष (नौवीं), द्वितीय वर्ष (दसवीं) की कक्षाओं में संस्कृत की शिक्षा छात्रों को मिलेगी। आगामी 13 अप्रैल को इस संस्कृत विद्यालय का शुभारंभ किया जाएगा। श्रीनगर विधायक गणेश गोदियाल बतौर मुख्य अतिथि विद्यालय का शुभारंभ करवाएंगे। श्रीनगर नगरपालिका के अध्यक्ष विपिन चंद्र मैठाणी की अध्यक्षता में होने वाले विद्यालय उद्घाटन समारोह में उत्तराखंड संस्कृत अकादमी हरिद्वार के सचिव डॉ. सुरेश चंद्र बहुगुणा और संस्कृत शिक्षा के पूर्व निदेशक डॉ. वाचस्पति मैठाणी की गरिमामय उपस्थिति में प्रदेश के पूर्व मंत्री मोहन ¨सह गांववासी विशिष्ट अतिथि होंगे। राजेश खंकरियाल को इस संस्कृत विद्यालय के आचार्य का दायित्व मिला है। अनुसूया प्रसाद जुयाल ने कहा कि विद्यालय उद्घाटन समारोह के तहत ऋषिकुल आश्रम बलोड़ी में ग्रामीणों के लिए निशुल्क दंत चिकित्सा शिविर का आयोजन किया जा रहा है। वरिष्ठ दंत चिकित्सक डॉ. केएस नेगी इस शिविर में दंत रोगियों का परीक्षण कर उपचार करेंगे।