जागरण संवाददाता, कोटद्वार: सैनिक का धर्म है अंतिम सांस तक देश के साथ ही साथियों की ओर आने वाली दुश्मन की गोलियों को आपने सीने पर झेलना। नायब सूबेदार बचन सिंह ने अपने इस धर्म का बखूबी निर्वहन किया और अपने प्राणों की आहूति देने से पूर्व अपने 12 साथियों को सुरक्षित बंकर तक पहुंचाया।

रविवार को जम्मू-कश्मीर से शहीद बचन सिंह का पार्थिव शरीर कोटद्वार पहुंचा। इस मौके पर सुबेदार राम सिंह ने बताया कि पाकिस्तानी सेना के हमले का जवाब देते हुए नायब सूबेदार बचन सिंह ने साथियों को बंकर की ओर भेजा। साथियों के बंकर में पहुंचने के बाद जैसे ही बचन सिंह बंकर की चले, पाकिस्तानी सेना की ओर से दागे गए राकेट की चपेट में आ गए और सैन्य धर्म निभाते हुए देश के लिए प्राणों की आहुति दे दी। गढ़वाल राइफल्स रेजीमेंटल सेंटर के कमांडेंट ब्रिगेडियर विनोद रायजादा ने कहा कि नायब सूबेदार बचन सिंह ने देश के लिए शहीद हो गढ़वाल राइफल्सय रेजीमेंटल सेंटर की परंपरा को आगे बढ़ाया है। उनके बलिदान को हमेशा याद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गढ़वाल राइफल्स को प्रथम विश्व युद्ध के बाद अंग्रेजी सेना ने बहादुरी के प्रतीक 'रॉयल रस्सी' से सम्मानित किया था व आज नायब सूबेदार बचन सिंह के बलिदान ने 'रॉयल रस्सी' की सार्थकता को साबित किया है। उन्होंने कहा कि गढ़वाल राइफल्स शहीद के परिवार का पूरा ख्याल रखेगी। उन्होंने कहा कि बचन सिंह की शहादत पर गढ़वाल राइफल्स रेजीमेंटल सेंटर को गर्व है।

भाई को शहादत पर फº

पाक सेना की गोलीबारी में शहीद हुए नायब सूबेदार बचन सिंह के भाई रिटायर्ड सूबेदार मेजर लक्ष्मण सिंह को अपने भाई की शहादत पर फº है। उन्होंने कहा कि भाई ने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों का जो बलिदान दिया है, उस पर हमें गर्व है। वे कहते हैं कि देश सेवा में जान देने का अवसर हर किसी को नहीं मिलता है।

शहीद की पत्‍‌नी की स्थिति नाजुक

शहीद बचन सिंह की पत्‍‌नी सरोज की स्थिति नाजुक बनी हुई है। बचन सिंह की शहादत का समाचार मिलने के बाद से ही उनकी पत्‍‌नी सरोज काफी तनाव में है। रविवार को लगातार दूसरे दिन राजकीय संयुक्त चिकित्सालय के चिकित्सकीय दल ने शहीद के आवास में पहुंच उनकी पत्नी की स्वास्थ्य जांच की। सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. बीएस चौधरी ने बताया कि सरोज की हालत स्थिर है, लेकिन नाजुक बनी हुई है। उन्होंने बताया कि बचन सिंह की मौत का उनकी पत्‍‌नी पर गहरा सदमा लगा है, जिससे वे उभर नहीं पा रही हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर