हल्द्वानी, जेएनएन : शुक्रवार की सुबह हल्द्वानी व काठगोदाम स्टेशन के बीच में रेलवे ट्रैक पर दर्दनाक हादसा हुआ। ट्रेन की चपेट में आने के बाद एक टैक्सी चालक 500 मीटर तक रगड़ता चला गया। जगह-जगह खून के धाबे व मांस के टुकड़े मिलने की वजह से यह अनुमान लगाया जा रहा है। आरपीएफ ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जिसके बाद परिवार के लोग भी मौके पर पहुंच गए। फिलहाल शव को पीएम के लिए पोस्टमार्टम हाउस भिजवाया गया है।

आरपीएफ इंस्पेक्टर रणदीप कुमार ने बताया कि ट्रेन गुजरने के बाद कीमैन को ट्रैक चेक करना होता है। सुबह 5.30 बजे काठगोदाम से देहरादून के लिए जन शताब्दी एक्सप्रेस रवाना हुई थी। जिसके बाद की-मैन लाल बहादुर रेलवे ट्रैक को चेक कर रहे थे। इस बीच राजपुरा फाटक से 200 मीटर काठगोदाम की तरफ लाल बहादुर को एक व्यक्ति का कटा हुआ शव दिखा। जिसकी सूचना उन्होंने रेलवे पुलिस फोर्स को भी दी। इंस्पेक्टर रणदीप कुमार ने बताया कि 500 मीटर तक खून के धब्बे और मृतक के शरीर का मांस बिखरा पड़ा था।

आधार कार्ड से पता चला कि मृतक जगदीश चौहान (42) निवासी भोटिया पड़ाव है। और वह पेशे से टैक्सी चालक है। इधर, जानकारी मिलने पर भोटिया पड़ाव पुलिस ने परिजनों को भी बुलाया। जिसके बाद मौके पर पहुंचे मृतक के दो बेटे व भाबी ने भी उसकी शिनाख्त कर ली। फिलहाल पुलिस यह जानने का प्रयास कर रही है कि यह हादसा था आत्महत्या। वहीं, आरपीएफ का कहना है कि अभी साफ नहीं है कि हादसा जन शताब्दी एक्सप्रेस से टकराने से ही हुआ है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021