Move to Jagran APP

भीषण गर्मी में पानी की बूंद-बूंद को तरसे Banbhulpura के 12 हजार परिवार, तीन टैंकरों ने मारे 42 चक्कर

Water Crisis in Uttarakhand दमुवाढूंगा राजपुरा के गौलागेट कठघरिया के बाद अब बनभूलपुरा में पेयजल संकट हो गया है। बनभूलपुरा स्थित ललित आर्य महिला इंटर कालेज व आजाद नगर स्थित नलकूप खराब होने से 12 हजार परिवार को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों को पानी उपलब्ध कराने के लिए तीनों टैंकरों ने कुल 42 फेरे लगाए हैं।

By Jagran NewsEdited By: Nirmala Bohra Published: Sun, 09 Jun 2024 11:43 AM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 11:43 AM (IST)
Water Crisis in Uttarakhand: लोगों को पानी की आपूर्ति के लिए तीन टैंकर ने मारे 42 चक्कर

जागरण संवाददाता, हल्द्वानी: Water Crisis in Uttarakhand: दमुवाढूंगा, राजपुरा के गौलागेट, कठघरिया के बाद अब बनभूलपुरा में पेयजल संकट हो गया है। आजादनगर व ताज चौराह का नलकूप खराब होने से बनभूलपुरा के छह हजार उपभोक्ता पानी की समस्या से परेशान हैं।

उपभोक्ताओं को पानी की आपूर्ति के लिए जल संस्थान की ओर से तीन टैंकर भेजे गए। लोगों को पानी उपलब्ध कराने के लिए तीनों टैंकरों ने कुल 42 फेरे लगाए हैं। हालांकि शनिवार की शाम ताज चौराह वाला नलकूप ठीक हो गया है। इससे रविवार को लोगों के घरों में पानी आना शुरू हो जाएगा।

नलकूप खराब होने से 12 हजार परिवार परेशान

बनभूलपुरा स्थित ललित आर्य महिला इंटर कालेज व आजाद नगर स्थित नलकूप खराब होने से 12 हजार परिवार को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लोग सुबह से ही टैंकर के इंतजार में घरों के बाहर खड़े हो गए। टैंकर आते ही लोगों ने बाल्टियां व घर के बर्तन नल के नीचे लगा दिए। हालांकि क्षेत्रवासियों का कहना है कि टैंकर के माध्यम से भी पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं मिल पा रहा है।

जल संस्थान के अवर अभियंता भुवन भट्ट ने बताया कि ताज चौराह वाला नलकूप शनिवार की शाम ठीक हो गया। इसकी मोटर बदल दी गई है। रविवार की सुबह तक लोगों के घरों तक पानी पहुंच जाएगा। वहीं आजाद नगर का नलकूप शुक्रवार को खराब होने के चलते क्षेत्र के लोगों को कुछ दिनों तक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। सहायक अभियंता रविंद्र कुमार ने बताया कि पेयजल संकट से जूझ रहे बनभूलपुरा, इंदिरानगर, गौलागेट में तीन-तीन टैंकर जा रहे हैं। जबकि दमुवाढूंगा में छह टैंकर से पानी की आपूर्ति की जा रही है। वहीं अन्य इलाकों में एक-एक टैंकर चल रहे हैं।

परेशान लोगों का यह कहना

पाइपलाइन में पानी नहीं आने के चलते काफी दिक्कतें हो रही हैं। टैंकर के माध्यम से सिर्फ चार से पांच बाल्टियां ही भर पा रही हैं। इसके चलते काफी सोच समझकर पानी का इस्तेमाल करना पड़ रहा है। कर्मचारियों को जल्द से जल्द नलकूप ठीक करना चाहिए। - शहादा बेगम, बनभूलपुरा।

टैंकर से भरा गया पानी सिर्फ पीने व खाना बनाने के लिए ही इस्तेमाल किया जा रहा है। उसके बावजूद पानी खत्म हो रहा है। जिसे परिवार के लोग दूर-दूर से भरकर ला रहे हैं। गर्मियों में पानी की किल्लत बनी रहती है। पानी की आपूर्ति के लिए अधिकारियों को ठोस कदम उठाना चाहिए। - मीना मुमजात, बनभूलपुरा।

बनभूलपुरा में कई दिनों से पानी को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। टैंकर से पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। पानी संबंधित सिर्फ घर के जरूरी काम ही हो पा रहे हैं। जल्द ही ट्यूबवेल को ठीक करना चाहिए। - सरताज आलम, बनभूलपुरा।

क्षेत्र में दो नलकूप खराब चल रहे हैं, इसके चलते 12 हजार परिवारों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। टैंकर आने में भी काफी समय लग रहा है। टैंकर के इंतजार के लिए लोग घरों के बाहर सुबह से ही खड़े हैं, दोपहर तक एक ही टैंकर पहुंचा है। - मोहम्मद गुफरान, वार्ड-21, आजाद नगर।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.