जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : Uttarakhand Weather Update : उत्तराखंड में पिछले चार-पांच दिनों की राहत के बाद एक बार फिर बारिश की संभावना बन रही है। मौसम विभाग ने 14 अगस्त को कुमाऊं मंडल के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा या गरज के साथ बौछार पडऩे की संभावना जताई है। पर्वतीय क्षेत्रों में कहीं कहीं पर तीव्र बौछार पड़ सकती हैं।

कुमाऊं में कुछ स्थानों पर भारी बारिश के आसार

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि कुमाऊं मंडल के नैनीताल, बागेश्वर, पिथौरागढ़ व चम्पावत जिले में कहीं कहीं पर भारी से बहुत भारी वर्षा देखने को मिल सकती है। कुछ जगह गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने की संभावना रहेगी।

पहाड़ों पर हो सकता है भूस्खलन

भारी वर्षा को देखते हुए संवेदनशील इलाकों में हल्के से मध्यम भूस्खलन और चट्टान गिरने के कारण कहीं कहीं राजमार्गों में अवरोध होने को लेकर चेताया है। पहाड़ी क्षेत्रों में नालों व नदियों के जलस्तर में वृद्धि हो सकती है। ऐसे में लोगों को नदी-नालों के समीप नहीं जाने, खेतों में जलभराव से बचाव के लिए निकासी का उचित प्रबंध करने की सलाह जारी की है।

कुमाऊं के प्रमुख स्थानों का तापमान

स्थान         अधिकतम     न्यूनतम

हल्द्वानी     32.9            26.6

नैनीताल      22.7           18.1

पंतनगर       34.1           27.6

अल्मोड़ा       33.9           20.7

बागेश्वर       37.5           23.6

चम्पावत      27.7           19.7

पिथौरागढ़     32.1          20.4

दरांती -दुम्मर मार्ग में दरकी पहाड़ी आवागमन बंद

पिथौरागढ़ जिले में शुक्रवार के बाद शनिवार को मौसम शुष्क रहा। जिले भर में वर्षा नहीं होने से राहत मिली परंतु सीमांत में विगत डेढ़ माह से बंद मार्ग नहीं खुलने से ग्रामीणों की समस्याएं बनी हुई हैं। बिन वर्षा के ही दरांती -दुम्मर मार्ग पर भूस्खलन से मलबा सड़क पर आने से आवाजाही ठप है।

चीन सीमा तक जाने वाला लिपुलेख मार्ग अभी भी यातायात के लिए नहीं खुल सका है। वर्षा का वेग थमने से नदियों और सदाबहार नालों के जलस्तर में लगातार कमी आ रही है।

जिला आपदा प्रबंधन द्वारा जिले में बंद मार्गो की शनिवार सुबह की गई सूची में बंद मार्गो की संख्या नौ थी और सायं होते-होते संख्या दस हो चुकी है। तेजम तहसील की बांसबगड़ घाटी, होकरा, नामिक, बंगापानी तहसील के तौमिक, दारमा, धारचूला के धौलीनदी घाटी में सबसे अधिक सड़कें बंद हैं।

चटख धूप के कारण उमस से लोग परेशान

तीन चार दिनों से बारिश न होन और मैदानी इलाकों में चटख धूप के कारण तापमान में तेजी आई है। रविवार को रुद्रपुर से लेकर पिथौरागढ़ तक धूप खिली है। मैदानी इलाकों में उमस ने लोगों को परेशान कर रखा है। बारिश के बाद राहत की उम्मीद है।

Edited By: Skand Shukla