Move to Jagran APP

उत्‍तराखंड के साढ़े पांच साल के इस बच्‍चे ने सबको किया हैरान, बना विश्व का सबसे कम उम्र का Chess Player

Tejas Tiwari यूकेजी कक्षा के छात्र साढ़े पांच वर्षीय तेजस तिवारी विश्व के सबसे कम उम्र के शतरंज खिलाड़ी बन गए हैं। जून में जारी हुई अंतरराष्ट्रीय शतरंज महासंघ (फिडे) की सूची में उन्हें 1149वीं रेटिंग प्राप्त हुई है। प्रथम स्व. धीरज सिंह रघुवंशी ओपन फिडे रेटेड शतरंज प्रतियोगिता में तेजस ने चार ड्रा और दो जीत के साथ फिडे रेटिंग प्राप्त की है।

By Edited By: Nirmala BohraTue, 25 Jul 2023 08:57 AM (IST)
Tejas Tiwari: तेजस सबसे कम उम्र के शतरंज खिलाड़ी बने

जासं, हल्द्वानी : Tejas Tiwari: दीक्षांत स्कूल में यूकेजी कक्षा के छात्र साढ़े पांच वर्षीय तेजस तिवारी विश्व के सबसे कम उम्र के शतरंज खिलाड़ी बन गए हैं। अंतरराष्ट्रीय शतरंज महासंघ ने उन्हें सबसे कम उम्र का खिलाड़ी घोषित किया है।

साथ ही जून में जारी हुई अंतरराष्ट्रीय शतरंज महासंघ (फिडे) की सूची में उन्हें 1149वीं रेटिंग प्राप्त हुई है। महासंघ ने इंटरनेट मीडिया पेज पर इसकी सूचना भी जारी की है।

पिता भी रह चुके शतरंज खिलाड़ी

तेजस तिवारी हल्द्वानी के सुभाष नगर क्षेत्र के रहने वाले हैं। उनके पिता शरद तिवारी सामाजिक कार्यकर्ता हैं और माता इंदु तिवारी गृहिणी हैं। उनके पिता ने बताया कि फिडे की ओर से उन्हें ईमेल मिला है। उनके पिता भी कुमाऊं विवि के शतरंज खिलाड़ी रह चुके हैं।

इधर, दीक्षांत स्कूल प्रबंधन ने बताया कि हाल ही में रुद्रपुर में हुई प्रथम स्व. धीरज सिंह रघुवंशी ओपन फिडे रेटेड शतरंज प्रतियोगिता में तेजस ने चार ड्रा और दो जीत के साथ फिडे रेटिंग प्राप्त की है। वह अब तक पांच राष्ट्रीय शतरंज प्रतियोगिताओं में उत्तराखंड का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

प्रतिभा किसी उम्र की मोहताज नहीं

स्कूल के निदेशक समित टिक्कू ने छात्र तेजस की उपलब्धि पर हर्ष व्यक्त किया है। कहा प्रतिभा किसी उम्र की मोहताज नहीं होती है। स्कूल की प्रधानाचार्या प्राबलीन सलूजा वर्मा, श्वेता पांडे, अंजना सतवाल, किशन तिवारी, नीरज साह, निदेशक समित टिक्कू, अकादमिक निदेशक स्मृति टिक्कू ने उन्हें बधाई दी है।

देहरादून के विजय ने जीता नैनीताल ओपन शतरंज

नैनी ओपन शतरंज प्रतियोगिता का खिताब देहरादून के विजय वैदिक ने सर्वाधिक अंक बनाकर जीता। प्रतियोगिता में देहरादून के ही अमित ढौंडियाल छह अंक के साथ दूसरे स्थान पर, गोपाल कृष्ण माहेश्वरी तीसरे व नकुल चौधरी चौथे स्थान पर रहे। हल्द्वानी के भाव्य अरोड़ा 5.5 अंक के साथ पांचवें, हल्द्वानी के हर्षदीप सिंह छठे, बरेली से सूर्यकांत वर्मा सातवे और वेद प्रकाश आठवें स्थान पर रहे। प्रतियोगिता में मथुरा के गब्बर नौवें, नेपाल के दीपक धामी दसवें स्थान पर रहे।

विजेता खिलाड़ियों को नगद राशि और ट्राफी प्रदान की गई। विशेष पुरस्कारों में बेस्ट वूमेन का खिताब 13वर्ष की वर्णिका ने जीता। अंडर-9 वर्ग में सक्षम दर्शन प्रथम, युग सिंघल दूसरे और आरुष सिंघल तीसरे स्थान पर रहे। अंडर 11 वर्ग में विवान गोयनका प्रथम, अथर्व जलहोत्रा दूसरे और जयदित्या जोशी तीसरे, अंडर 13 वर्ग में प्रखर सक्सेना प्रथम, आयुष रावत दूसरे, सक्षम सैनी तीसरे, अंडर 15वर्ग पर प्रणव भट्ट प्रथम, ऋषभ साहू दूसरे और इशिका बंगा तीसरे स्थान पर रहे।

शारदा संघ में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि उत्तराखंड बार काउंसिल के चेयरमैन डा. महेंद्र पाल, विशिष्ट अतिथि भगवत सिंह नेगी, शारदा संघ महासचिव घनश्याम लाल साह, एसपी हल्द्वानी हरवंश सिंह ने विजेताओं को पुरस्कृत किया।