लालकुआं (नैनीताल) जेएनएन : स्‍वतंत्रता दिवस पर एक दिन पहले 14 अगस्त को टांडा जंगल में किशोरी की बेरहमी से की गई हत्या का लालकुआं पुलिस ने 48 घंटे के भीतर खुलासा कर दिया है। हत्‍यारा कोई और नहीं बल्कि मृतका का चाचा ही निकला। भतीजी को जंगल में आपत्तिजनक अवस्‍था में पकड़ने के बाद आवेश में आकर उसने उसी के दुपट्टे से गला घोंटकर हत्‍या कर दी थी। धारा 302 के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत कर उसे जेल भेज दिया गया है।

अपर पुलिस अधीक्षक राजीव मोहन ने विगत 14 अगस्त को नाबालिक बालिका की टांडा जंगल में गला घोटकर निर्मम हत्या किए जाने के बाद 48 घंटे के भीतर खुलासा करते हुए बताया कि मृतका का चाचा काशीराम निवासी वर्मा कॉलोनी घोड़ा नाला को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने बताया कि तीन माह पूर्व बच्चों एवं पत्नी की देखभाल व खाना बनाने के लिए शाहजहांपुर से अपनी भतीजी को अपने घर बुलाया था। परंतु विगत ढाई महीनों के अंदर अपनी भतीजी की आदत एवं चाल चलन ठीक ना होने उसने उस पर ध्यान रखना शुरू कर दिया। घटना की रात को उसने जंगल मे एक लड़के के साथ आपत्ति जनक अवस्था मे पकड़ लिया। इस दौरान अंधेरे का फायदा उठाकर लड़का फरार हो गया। जिसे काशीराम पहचान नहीं पाया। इस दौरान गुस्से में कासीराम ने आरती के दुपट्टे से ही उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी। सीओ राजीव मोहन ने बताया कि आरोपी की निशानदेही पर मृतका के चप्पल घटनास्थल से कुछ दूरी पर बरामद कर लिए गया है। मृतका के भाई आदेश शर्मा निवासी रेती नई बस्ती शाहजहांपुर की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करते हुए आरोपी को जेल भेज दिया है।

Posted By: Skand Shukla