धारचूला/पिथौरागढ़, जेएनएन : भारत-नेपाल सीमा पर तैनात 11वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने दो महिलाओं से 9.310 किलो चरस बरामद की है। बरामद चरस की कीमत 93.10 लाख रुपये आंकी गई है। महिलाएं चरस के पैकेट बनाकर कमर में बेल्ट की तरह बांध कर ला रही थी। 

गुरु वार को 11 वीं वाहिनी एसएसबी के जवान भारत नेपाल की सीमा पर स्थित अंतरराष्ट्रीय झूला पुल पर आने जाने वाले लोगों पर नजर रख रहे थे। इसी दौरान नेपाल की तरफ से दो महिलाएं आई। पुल पर तैनात एसएसबी जवानों महिलाओं पर संदेह हुआ। महिला जवानों द्वारा उन्हें रोका गया और पूछताछ की गई। उनके सामान की तलाशी ली गई तो उनके पास से नौ किलो तीन सौ दस ग्राम चरस बरामद हुआ। महिलाओं द्वारा चरस के कुछ पैकेट बना कर कमर में बेल्ट की तरह बांधे गए थे और कुछ पैकेक बैगों में थे। इतनी अधिक मात्रा में चरस पकड़े जाने पर जवानों ने सूचना उच्चाधिकारियों को दी। एसएसबी के एसआइ उच्छाप सिंह द्वारा महिलाओं से पूछताछ की गई। सूचना पर उप सेनानी अशोक कुमार मौके पर पहुंचे। चरस नेपाल से भारत में तस्करी के लिए लाई जा रही थी। दोनों महिलाएं नेपाल के डांग जिले की है। पकड़ी गई महिलाएं इच्छा पत्नी जीत राम तथा अवशी पत्नी राजकुमार निवासी लोमनी, जिला डांग नेपाल हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस