संवाद सूत्र, हल्दूचौड़ : जंगल से सटे तेजपुर नेगी गांव में धमके टस्कर हाथी ने महिला को खूब दौड़ाया। जान बचाने के लिए भाग रही महिला गिरकर चोटिल हो गई। इधर टस्कर हाथी ने मवेशियों को भगाने के लिए खेत में बनाए गए मचान पर गुस्सा उतारते हुए मचान को तहस-नहस कर दिया। कुछ समय बाद हाथी चिंघाड़ते हुए जंगल की ओर चला गया।

शनिवार भोर में टस्कर हाथी के साथ जंगली हाथियों का झुंड जंगल की सरहद से सटे तेजपुर नेगी गांव में घुस आया। इस बीच ग्रामीण हीरा देवी ने जब हाथियों को भगाने के लिए टार्च की रोशनी लगाई तो टस्कर हाथी हीरा देवी पर हमला करने के लिए उसका पीछा करने लगा। इस पर जान बचाने के लिए हीरा देवी भाग खड़ी हुई। हीरा देवी का पीछा करते हुए हाथी खेत पर बने मचान तक आ गया। इसके बाद टस्कर ने मचान को सूंड से तोड़ दिया। इस पर हीरा देवी तथा बटाईदार महेंद्र सिंह ने हो हल्ला मचाकर ग्रामीणों को सचेत किया। इस दौरान हीरा देवी गिरकर चोटिल हो गई।

इसके बाद हाथियों का झुंड किसान देवसिंह बिष्ट, विजय बिष्ट, आनंद सिंह बिष्ट के खलिहान में पहुंचकर चिंघाड़ने लगा। हाथियों के झुंड ने गेहूं के खेतों में जमकर तांडव मचाया। इसके बाद झुंड बमुश्किल जंगल की ओर लौटा। इस घटना पर ग्राम प्रधान ललित सनवाल, सीमा कीर्ति, हरेंद्र असगोला, रुकमणी, हीरा देवी, देव सिंह बिष्ट, विजय बिष्ट, आनंद बिष्ट, महेंद्र सिंह किशन कुमार आदि ने वन विभाग के उच्चाधिकारियों से वार्ता कर हाथियों के आतंक से निजात देने की गुहार लगाई। ग्रामीणों ने ठोस कार्रवाई न होने पर जिलाधिकारी के घेराव की चेतावनी दी है।

========= :: वर्जन

किसानों को हाथियों के आतंक से निजात दिलाने के लिए वन विभाग द्वारा गस्त कराई जा रही हैं। हाथियों को रोकने के लिए जंगल की सीमा पर खाई खुदवाने का कार्य चल रहा है। साथ ही सुरक्षा दीवार का निर्माण कराया जा रहा है। सोलर फेंसिंग की टेंडर प्रक्रिया तेजी से चल रही है।

- सावित्री गिरि, वन क्षेत्राधिकारी तराई पूर्वी हल्द्वानी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस