नैनीताल, जागरण संवाददाता : सरोवर नगरी नैनीताल में होटल समेत अन्य पर्यटन कारोबारी क्रिसमस व थर्टी फर्स्ट की तैयारियों में जुट गए हैं। 24 दिसंबर से दो जनवरी तक पर्यटकों की एडवांस बुकिंग शुरू हो गई है। शहर के साथ ही समीपवर्ती पंगोट, किलबरी, विनायक, मंगोली तक के होटल रिसॉर्ट्स में भी एडवांस बुकिंग होने लगी है। अब तक 50 फीसद से अधिक एडवांस बुकिंग हो चुकी है। इस बीच ओमिक्रोन को लेकर बढ़ती चिंता ने कारोबारियों को भी चिंता में डाल दिया है। कारोबारी उम्मीद कर रहे हैं कि जल्द सरकार ओमिक्रोन को लेकर गाइडलाइन जारी करेगी।

नैनीताल व आसपास करीब पांच सौ से अधिक होटल हैं। कोविड काल में पर्यटन व्यवसाय बुरी तरह प्रभावित हुआ। खासकर नौका व घोड़ा चालकों को समीपवर्ती गांवों में मजदूरी के लिए जाना पड़ा। इस साल पर्यटन कारोबार धीरे धीरे पटरी पर आ रहा है। इसी बीच कोविड के नए वैरियंट ओमीक्रान की दुनिया में दस्‍तक ने फिर से चिंता बढ़ा दी है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से बारापत्थर व तल्लीताल में पर्यटकों की रैंडम सैम्पलिंग की गई। होटलों में भी कोविड का टीका लगे लोगों को ही एंट्री दी जा रही है। अब ओमिक्रोन की नई गाइडलाइन का इंतजार किया जा रहा है।

होटल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष दिग्विजय बिष्ट के अनुसार क्रिसमस व थर्टी फर्स्ट के लिए अधिकांश बड़े होटलों में 50 प्रतिशत से अधिक एडवांस बुकिंग हो चुकी है लेकिन पर्यटक लगातार नई गाइडलाइन को लेकर पूछताछ कर रहे हैं। पर्यटक साफ कह रहे हैं कि नई गाइडलाइन के बाद ही तय करेंगे कि आएंगे या नहीं। बिष्ट ने सरकार से जल्द गाइडलाइन को लेकर तस्वीर साफ करने की मांग की है। उन्‍होंने कहा कि कोविड ने पहले ही टूरिज्‍म कारोबार को चौपट कर चुका है, ऐसे अब सरकार को जो भी गाइडलाइन जारी करनी है, उसे लेकर तस्‍वीर साफ कर देनी चाहिए।

Edited By: Skand Shukla