जागरण संवाददाता, हल्द्वानी: हल्द्वानी में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले एक अंतरराज्जीय चोर को गिरफ्तार कर पुलिस ने शनिवार को अधूरा पर्दाफाश कर दिया। एक चोर को पकड़ने में पुलिस ने 300 सीसीटीवी कैमरे खंगालने का दावा किया है। हिस्ट्रीशीटर फरार हैं व एक चोर को दिनेशपुर पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। टीम चोरी का मात्र 30 प्रतिशत माल ही बरामद कर सकी है। एसएसपी ने पुलिस टीम को ढाई हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है।

एसपी सिटी हरबंस सिंह बताया कि 20 मई को चोरों ने बरेली रोड निवासी शिव कुमार व रामबाग कालोनी हल्द्वानी निवासी अधिवक्ता ज्योति सिंह के बंद घर का ताला तोड़कर चोरी की थी। चोर सोने, चांदी के आभूषण व नकदी समेत लाखों रुपये का माल साफ कर ले गए थे। पुलिस टीम का गठन कर चोरों की तलाश शुरू कर दी थी। शनिवार को उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय से तीन पानी को जाने वाले मार्ग से वार्ड नंबर पांच इस्लामनगर खटीमा निवासी सलमान हुसैन को गिरफ्तार किया।

पूछताछ में आरोपित ने दोनों घरों में चोरी की बात स्वीकारी। उसके कब्जे से चोरी के चंद आभूषण बरामद हुए। एसपी सिटी ने बताया कि चोर सितारगंज, खटीमा, पीलीभीत, दिनेशपुर के बाद हल्द्वानी में चोरी कर रहे थे। बरेली में भी इनके खिलाफ चोरी के कई मुकदमे दर्ज हैं।

गोरीखेड़ा सितारगंज निवासी आरोपित दीपक गुप्ता उर्फ जगदीश गुप्ता को कुछ दिन पहले दिनेशपुर पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। खटीमा थाने का हिस्ट्रीशीटर व इस्लामनगर खटीमा निवासी अकील अहमद अभी फरार है। पुलिस आरोपित के कब्जे से चोरी का 20 प्रतिशत माह की बरामद कर पाई। जिसमें एक जोड़ी पायल, चार नोजरिंग, एक सोने की चेन, आठ नाकफूल आदि शामिल है।

पुराने पेपर व बंद लाइट चोरी का हथियार

चोर दिनभर बंद घरों की रैकी करते थे। घर के बाहर कई दिनों के न्यूज पेपर पड़े होने व रात को लाइट बंद होने को हथियार बनाते थे। इससे यह अंदाजा हो जाता था कि घर में लंबे समय से कोई नहीं है। रात को ताला तोड़कर चोरी की जाती थी। चोर घरों ने इलेक्ट्रानिक सामान टीवी, मोबाइल व लेपटाप नहीं नहीं ले जाते थे।

पीलीभीत के साहूकार को बेचा सोना, चांदी

पकड़े गए आरोपित ने बताया कि चोरी का सोना व चांदी पीलीभीत के प्रियम नाम के साहूकार को बेचा गया है। चोरी के माल की बराबर हिस्सेदारी की जाती थी। पुलिस साहूकार के बारे में जानकारी जुटा रही है।

गैंगस्टर है सलमान

आरोपित सलमान खटीमा थाने का गैंगस्टर है। उसके खिलाफ खटीमा, दिनेशपुर थाने में 13 मामले दर्ज हैं। फरार अकील पर बरेली, दिनेशपुर, खटीमा व पीलीभीत में 17 तथा दीपक पर खटीमा, पीलीभीत व सितारगंज में 12 मामले दर्ज हैं।

Edited By: Skand Shukla