संसू, गरमपानी : ग्रामीण सड़कें बजट ठिकाने लगाने का जरिया बन चुकी है। हाईवे से तमाम गावों को जोड़ने वाला लोहाली चमडिया मोटर मार्ग इसका जीता जागता उदाहरण बन चुका है। छह माह पूर्व करीब 17 लाख की लागत से किया गया पेचवर्क का कार्य जगह-जगह दम तोड़ गया है। गुणवत्ताविहीन कार्यो से ग्रामीणों में नाराजगी है।

हाईवे से तमाम लोहाली, चमडिया, धूरा, आटावृता, छियोडी धूरा समेत तमाम गावों को जोड़ने वाला लोहाली चमडिया मोटर बीते कई वर्षो से बदहाली का दंश झेल रहा था। बीते मार्च में लोनिवि ने करीब 17 लाख रुपये की लागत से 12 किमी दायरे में पेचवर्क का कार्य कराया तब भी ग्रामीणों ने गुणवत्ता विहीन कायरें का आरोप लगाया पर किसी ने न सुनी। अब छह माह में सड़क दम तोड़ने लगी है। पेच वर्क जगह-जगह उखड़ने लगा है, जिससे ग्रामीणों को आवाजाही में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बार-बार आवाज उठाए जाने के बावजूद कोई सुनवाई नहीं हो रही। ग्रामीणों ने गुणवत्ताविहीन कायरें का आरोप लगा जाच की माग उठाई है। दो टूक चेतावनी दी है कि यदि जल्द सुधार न हुआ तो आंदोलन की रणनीति तैयार की जाएगी। इधर संबंधित विभाग के सहायक अभियंता सुरेश चंद्र के अनुसार अभी कार्य पूरा नहीं हुआ है। बरसात खत्म होने के बाद मोटर मार्ग दुरुस्त कर लिया जाएगा।

----------

भीमताल बाइपास मार्ग पर छह माह में ही उखड़ गया डामर

संस, भीमताल : यहां बाइपास मार्ग पर लगभग छह माह पूर्व लोक निर्माण विभाग के द्वारा डामरीकरण का कार्य करवाया गया था। लेकिन छह में ही जगह-जगह डामर उखड़ गया है। जिससे मार्ग पर बड़े बड़े गड्ढे बन गये है। स्थानीय लोंगों ने बरसात के समाप्त होते ही बाइपास मार्ग में डामरीकरण के कार्य को ठीक करने की माग लोक निर्माण विभाग से की है।

Edited By: Jagran