जागरण संवाददाता, हल्द्वानी: जल संस्थान व जल निगम के बीच असमंजस की स्थिति के कारण उन पुराने कनेक्शनों को नई लाइन से जोड़ दिया गया है, जिन्हें बकायेदारी की वजह से भविष्य में काटा जाना था। राजपुरा से लेकर इंदिरानगर क्षेत्र में ऐसे कई संयोजन हैं, जिनका लंबे समय से बिल जमा नहीं होने से जल संस्थान आरसी काटने की तैयारी में था।

नगर निगम क्षेत्र में जल निगम ने पानी की लाइनें बिछाई थीं। राजपुरा व इंदिरानगर का इलाका भी इसमें शामिल था। नई लाइन डलने के बाद पुराने कनेक्शन जल निगम ने अटैच कर दिए थे। इसमें कई घरेलू कनेक्शनधारी ऐसे थे, जिनके ऊपर हजारों रुपये का बिल बकाया था, जबकि जल संस्थान बकायेदारों का डाटा तैयार कर कार्रवाई के मूड में था। सूत्रों की माने तो विभागीय असंमजस की स्थिति दूर करने के लिए प्रशासन स्तर पर बैठक भी हुई थी। उसके बावजूद तालमेल नहीं होने के कारण यह समस्या खड़ी हो गई। फिलहाल जल निगम द्वारा डाली गई ये नई लाइनें जल संस्थान को हैंडओवर नहीं हुई है।

पानी तो आएगा मगर बिल तो दो

जल संस्थान के अधिशासी अभियंता के पास कई लोग शिकायत लेकर पहुंच रहे हैं कि इलाके में पानी नहीं आ रहा। इलाका व कनेक्शन चेक करने पर पता चलता है कि उन्होंने महीनों से बिल तक नहीं दिया। ऐसे में अफसर भी साफ कह रहे हैं कि पानी की समस्या तो दूर कर दी जाएगी। लेकिन कम से कम बिल तो जमा कीजिए।

ईई जल निगम एके कटारिया का कहना है कि नई लाइन बिछाने के बाद जल निगम सिर्फ उन कनेक्शनों को पुन: जोड़ता है, जो कि पुरानी लाइन में शामिल थे। निगम सिर्फ कनेक्शन का प्रमाण देख लाइन जोड़ता है। नए कनेक्शन जल संस्थान द्वारा दिए जाएंगे। पुराने आदेश को लेकर भी कुछ असमंजस बना है।

ईई जल संस्थान संजय श्रीवास्तव ने बताया कि बकायेदारों की लिस्टिंग तैयार की जा रही है, जिसके बाद इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी। जल निगम द्वारा कुछ जगहों पर कनेक्शन जोड़े गए हैं।

Edited By: Prashant Mishra