जागरण संवाददाता, नैनीताल : आइजी पूरन सिंह रावत ने मंडल के जिला पुलिस प्रमुखों से लंबित विवेचना के वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी करने और मालखाने के माल का निस्तारण करने के निर्देश दिए। उन्होंने बेहतर कार्य करने वाले पुलिस कर्मियों को पुरस्कृत करने व पुलिस की कार्य क्षमता बढ़ाने के लिए जरूरी कदम उठाने को कहा है।

मंगलवार को आइजी ने अपने कार्यालय में पुलिस अधिकारियों की बैठक में कानून व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने सीओ स्तर के अधिकारियों से पुलिस बैरक, शौचालय, बिजली पानी की व्यवस्थाओं का साप्ताहिक निरीक्षण करने, पर्यटन सीजन के मद्देनजर यातायात का प्लान तैयार करने, वाहन दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए प्रयास करने की हिदायत दी। उन्होंने नियमित वाहन चेकिंग करने और गली मोहल्लों में फेरी लगाने वालों का सत्यापन करने, के निर्देश दिए। नॉन बैंकिंग संस्थानों के सत्यापन कराने, महिला और बालिकाओं की सुरक्षा के लिए बाजार व स्कूल खुलने व बंद होने के समय पुलिस की उपस्थिति बढ़ाने, अज्ञात शवों की शिनाख्त के लिए तथा नैनीताल में हत्या कर शव फेंकने के मामलों की रोकथाम के लिए कदम उठाने को कहा है।

नशाखोरी पर रोक के लिए प्रभावी कदम उठाएं

नशे के खिलाफ प्रभावी कार्यराई करने, संगठित मजदूरों का मौके पर ही सत्यापन करने, साइबर अपराधियों का पंजीकरण करने, बरातघरों में सीसीटीवी कैमरे लगाने व फायर उपकरण चेक करने को भी कहा गया। इस मौके पर नैनीताल के एसएसपी जन्मेजय खंडूरी, ऊधमसिंह नगर के डॉ सदानंद दाते, अल्मोड़ा की पी रेणुका देवी, एसपी बागेश्वर मुकेश कुमार, चंपावत के धीरेंद्र गुंज्याल, सीओ पिथौरागढ़ शेखर सुयाल आदि मौजूद थे।

बैजनाथ थानाध्यक्ष को सम्मान

बैठक के दौरान 28 पेटी शराब की बरादमगी पर बैजनाथ के थानाध्यक्ष मदन लाल को परिक्षेत्र स्तर में पुलिस मैन ऑफ दी मंथ पुरस्कार प्रदान किया गया। आइजी ने पुरस्कारस्वरूप एक हजार नगद व प्रशस्ति पत्र प्रदान किया।

रिटायर इंस्पेक्टर की किताब का विमोचन

आइजी समेत मंडल के जिला कप्तानों ने रिटायर निरीक्षक हरीश चंद्र पंडा की किताब अनुभव का विमोचन किया। किताब में थाने में प्राथमिकी दर्ज करने से लेकर विवेचना, हेड मोहरिर के बयान, अधिवक्ता के सवालों के जवाब, एनडीपीएस की विवेचना, गैंगस्टर एक्ट का तरीका, फर्द बरामदगी, पोस्टमार्टम व पंचनामे की प्रक्रिया तथा पुलिस कार्रवाई में प्रयुक्त उर्दू के शब्दों का हिन्दी अर्थ समझाया है। सभी ने किताब को पुलिस महकमे के साथ ही फरियादियों के लिए लाभप्रद करार दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस