संवाद सहयोगी,गरमपानी : आपदा प्रभावित लोगों के आंदोलित होने के बाद अब नैनीताल जिला प्रशासन हरकत में आ गया है। हल्द्वानी से हेलीकॉप्टर के जरिए राहत सामग्री खैरना भिजवाए जाने का काम शुरू कर दिया है। वहीं कोश्‍याकुटौली में भी हेलीकॉप्‍टर से दूध पहुंचाया गया। राहत सामग्री पहुंचाने पर स्थानीय लोगों ने भी राहत की सांस ली।

शुक्रवार को कोसी घाटी के उपर हेलीकॉप्टर मंडराने से लोग अचरज में आ गए। बाद में हेलीकॉप्टर से राहत सामग्री पहुंचाए जाने से स्थिति स्पष्ट हुई। तहसील प्रशासन ने हेलीकॉप्टर से खैरना में राहत सामग्री का उतारने का इंतजाम किया पर तकनीकी कारणों से जीआइसी खैरना में हेलीकॉप्टर नहीं उतर सका। बाद में जीआइसी भुजान में राहत सामग्री उतारी गई। अब राहत सामग्री आपदा प्रभावितों को वितरित की जाएगी। सामग्री पहुंचने से अब स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली है। वहीं क्षेत्र में पेयजल व दूध की आपूर्ति भी शुरू कर दी गई है।

बेतालघाट में कोसी नदी पर अज्ञात शव मिलने से हड़कंप

बेतालघाट में कोसी नदी पर शव मिलने से हड़कंप मच गया। पुलिस प्रशासन ने नदी के बीचो-बीच फंसे शव को बाहर निकाला। शव की शिनाख्त नहीं हो सकी है।मूसलाधार बारिश से नदी नालों में समाए लोगों के शव मिलने का सिलसिला जारी है। बेतालघाट क्षेत्र के समीपवर्ती सेठी धारकोट क्षेत्र में गुरुवार को कोसी नदी के बीचो-बीच अज्ञात शव पड़े होने की सूचना से हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से शव को नदी से बाहर निकाला। थानाध्यक्ष बेतालघाट बलवंत सिंह कंबोज के अनुसार शव का कमर के नीचे का हिस्सा गायब है। शिनाख्‍त की कोशिश की जा रही है।

Edited By: Skand Shukla