नैनीताल, जेएनएन : शहर के समीपवर्ती जंगलों में दावानल का प्रकोप कुछ थम गया है। भवाली रोड के पाइंस, समेत आसपास के जंगल तथा हल्द्वानी रोड में एरीज बैंड, ताकुला के समीप के जंगलों में गुरुवार को लगी भीषण आग को बुझा लिया गया है। दमकल विभाग के साथ ही वैज्ञानिकों व शोधार्थियों की तत्परता की वजह से एरीज की एक मीटर व्यास दूरबीन को आग से बचाया जा सका। यहां तक कि परिसर में आग नहीं पहुंच सकी। शुक्रवार को ताकुला के जंगल में सुलगी आग एरीज आवास तक पहुंची, लेकिन उसे बुझा दिया गया। एफएसओ कैलाश चंद्र समेत फायर कर्मी एरीज प्रशासनिक भवन के समीप घंटों जमे रहे। उधर रेंजर ममता चंद के अनुसार पाइंस क्षेत्र के जंगल में आग पूरी तरह बुझा दी गई है। इसके बाद भी टीमों को अलर्ट मोड पर रखा गया है। डीएफओ बीजूलाल टीआर ने बताया कि आग पर नियंत्रण हो चुका है। साथ ही कहा कि भवाली, मनोरा रेंज में आग लगी, लेकिन उसे नियंत्रण किया जा चुका है। इधर जंगलों में धधकती आग की वजह से वन महकमे में हड़कंप है। वन विभाग दावानल की चिंता से दूर होने के लिए बारिश के लिए प्रार्थना कर रहा है।

दमकल विभाग के दो फायर वाहन खराब

जंगल की आग बुझाने के लिए सरकारी इंतजाम जवाब देने लगे हैं। शुक्रवार को एरीज क्षेत्र में लगी आग बुझाने के लिए नैनीताल से पानी ले जा रहा फायर वाहन चील चक्कर मोड़ से आगे खराब हो गया। बताया जाता है कि वाहन का पाइप फट गया था। इस वजह से तीन घंटे तक वाहन सड़क पर खड़ा रहा। दूसरे दमकल वाहन की तकनीकी खराबी ठीक करने के लिए हल्द्वानी भेजा गया है। इसके अलावा रेंजर एनके जोशी का सरकारी वाहन भी खराब हो गया, जिस कारण उन्हें भी आग बुझाने के लिए वाहन हायर करना पड़ा।

यह भी पढ़ें : नैनीताल में भीषण आग के कारण दस गुना तक बढ़ा वायु प्रदूषण, स्‍वास्‍थ्‍य के लिए खतरनाक

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप