जागरण संवाददाता, चम्पावत : जिले में 23 जनवरी को राष्ट्रीय पल्स पोलियो प्रतिरक्षण दिवस का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान 0-5 वर्ष के 32,328 बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जाएगी। डीएम विनीत तोमर ने स्वास्थ्य विभाग को अभियान को सफल बनाने और  शत-प्रतिशत बच्चों को पोलियो ड्राप पिलाने के निर्देश दिए हैं।

बुधवार को जिला सभागार में हुई जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक में डीएम ने कहा कि 23 जनवरी को होने वाले पल्स पोलियो अभियान में एक भी बच्चा वंचित नहीं रहना चाहिए। उन्होंने अभियान के दौरान कोविड नियमों का पालन करने के भी निर्देश दिए। डीएम ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से पल्स पोलियो की वर्तमान स्थिति की जानकारी भी ली। सीएमओ डा. केके अग्रवाल ने बताया कि आगामी 23 जनवरी को पूरे जनपद में पल्स पोलियो अभियान की तैयारी पूरी कर ली गई है। प्रतिरक्षण दिवस के पहले दिन पर्वतीय क्षेत्रों में  बूथ पर तथा अगले दो दो दिन घर-घर जाकर पोलियो की दवा पिलाई जाएगी। इसी प्रकार मैदानी क्षेत्रों में प्रथम दिन बूथ पर तथा अगले छह दिनों तक घर-घर जाकर दवा पिलाई जाएगी। सीएमओ ने बताया कि जिले में 0-5 वर्ष के बच्चों की कुल संख्या 32,328 हैं।

चम्पावत में 7,475, लोहाघाट में 6,583, पाटी में 7,111, बाराकोट 1,919, टनकपुर तथा बनबसा में 9,240 बच्चे हैं। जिलाधिकारी ने बूथ डे से पूर्व 22 जनवरी को पल्स पोलियो कार्यक्रम के प्रचार प्रसार के उद्देश्य से स्कूली बच्चों की प्रभात फेरी का आयोजन करने के निर्देश दिए। उन्होंने 15 से 18 वर्ष के बच्चो की कोविड वेक्सिनेशन की भी समीक्षा की। कोविड नोडल अधिकारी कुलदीप यादव को प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन लगाना सुनिश्चित करने को कहा। इस मौके पर एडीएम शिवचरण द्विवेदी, सीओ अशोक परिहार, मुख्य चिकित्साधिकारी केके अग्रवाल, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी एवं जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. इंद्रजीत पांडेय समेत कई अधिकारी मौजूद रहे।

Edited By: Prashant Mishra