जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : हाई कोर्ट की सख्ती के बाद पॉलीथिन के प्रयोग को रोकने के लिए डीएम दीपक रावत ने शनिवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए शहर में पॉलीथिन के छह गोदाम सील किए थे। रविवार को प्रशासनिक टीम इन गोदामों से पॉलीथिन कब्जे में लेने गई तो सरकारी शराब की दुकान से पॉलीथिन का बड़ा जखीरा हाथ लग गया। मंडी गेट के पास स्थित दुकान में पॉलीथिन से भरे 177 कट्टे बरामद किए गए। इनमें से प्रत्येक कट्टे में करीब तीन हजार पॉलीथिन के हिसाब से कुल 5,31,000 पॉलीथिन बैग हैं। 500 रुपये प्रति पॉलीथिन के हिसाब से करीब 26 करोड़ 55 लाख रुपये जुर्माने का आंकलन किया गया है।

पॉलीथिन के खिलाफ पहली बार हल्द्वानी शहर में सबसे बड़ी कार्रवाई सामने आई है। शनिवार को डीएम दीपक रावत शहर में निकले तो बनभूलपुरा लाइन नंबर एक और नवीन मंडी में छह गोदामों के ताले तुड़वाए गए। इन गोदामों में भारी मात्रा में पॉलीथिन होने पर डीएम ने तत्काल सारे गोदामों को सील करवा दिया। जुर्माने का आंकलन करने के लिए रविवार सुबह टीम गोदामों में भरी पॉलीथिन को कब्जे में लेने के लिए निकली। एसडीएम एपी बाजपेयी ने बताया कि मंडी स्थित शराब की दुकान में 177 कट्टे पॉलीथिन मिली। जुर्माने के मानकों को आधार मानकर प्रारंभिक आंकलन किया गया है और यह साढ़े 26 करोड़ रुपये आ रहा है। उन्होंने बताया कि बनभूलपुरा व मंडी के गोदामों में जमा पॉलीथिन और थर्माकोल के जुर्माने को जोड़ कर यह आंकड़ा और ज्यादा होगा। इसमें दुकानों और ठेली से बरामद पॉलीथिन पर शनिवार को लगा करीब 22 हजार का जुर्माना शामिल नहीं है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran