चम्पावत, जेएनएन : उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग द्वारा यूपीसीएल का बकाया 4.69 करोड़ न जमा करने पर एक बार फिर यूपीसीएल ने यूपी सिंचाई विभाग को नोटिस भेज दिया है। यूपीसीएल ने 25 सितंबर तक बिल का भुगतान न करने पर 26 सितंबर से विद्युत कनेक्शन काटने की चेतावनी दी है। बता दें कि बकाया लेने के लिए बीते मार्च माह में यूपीसीएल एसई उत्तर प्रदेश लखनऊ गए थे लेकिन वह वहां से भी बैरंग लौटे थे।

बता दें कि उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड की परिसंपत्तियों का बंटवारा न होने के कारण दोनों देशों के बीच लंबे समय से विद्युत बिल को लेकर खटपट चल रही है। यूपीसीएल का यूपी सिंचाई विभाग पर करीब 14 करोड़ का विद्युत बिल बकाया है। बकाए विद्युत बिल को लेकर सिंचाई विभाग उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड पावर कॉरपोरेशन के बीच कई बार पूर्व में भी ठन चुकी है। जिसके चलते यूपीसीएल द्वारा पूर्व में तीन बार शारदा पुल और शारदा हेडवक्र्स बनबसा की बिजली काटी जा चुकी है। हालांकि बकाए के भुगतान को लेकर उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिवों के बीच 7 अगस्त 2019 को देहरादून में बैठक हुई थी। जिसमें निर्णय लिया गया था कि सिंचाई विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा उत्तराखंड का बकाया विद्युत बिल 4.69 करोड़ का भुगतान तीन माह के भीतर कर दिया जाएगा।

 

बाकी करीब आठ करोड़ के बिल को दोनों अधिकारियों के आपसी समझौते के चलते माफ कर दिया गया था। साथ ही प्रतिमाह आने वाले बिल का भुगतान नियमित रूप से करे जाने का निर्णय लिया गया था। इस बैठक के बाद सिंचाई विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा प्रतिमाह विद्युत बिलों का भुगतान तो किया जा रहा है। लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी यूपी सिंचाई विभाग ने बकाए 4.69 करोड़ बिल का भुगतान नहीं किया। बकाया बिल लेने के लिए मार्च माह में यूपीसीएल एसई तरुण कुमार लखनऊ भी गए थे लेकिन वह वहां से भी बैरंग लौटे थे।

 

जिसके चलते ऊर्जा निगम अब शारदा बैराज व कॉलोनी की एक बार फिर कनेक्शन काटने की तैयारी कर रहा है। इसको लेकर यूपीसीएल ईई राजेश मौर्य ने यूपी सिंचाई विभाग को 25 सितंबर यानी कल तक बिल का भुगतान न होने पर 26 सितंबर से कनेक्शन काटे जाने को पत्र लिखा है। हालांकि यूपी सिंचाई विभाग अधिशासी अभियंता बृजेश कुमार मौर्या ने अभी कनेक्शन न काटे जाने व बकाए बिल का भुगतान करने को बजट की डिमांड किए जाने की बात कही।

 

शारदा बैराज का कनेक्शन कटने पर बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्था पर पड़ेगा असर

अगर यूपी सिंचाई विभाग द्वारा विद्युत के बकाए बिल का भुगतान नहीं करता है तो यूपीसीएल कनेक्शन काटने की कार्यवाही करेगा। ऐसे में कनेक्शन कटने पर इंडो नेपाल बॉर्डर पर अंधेरा होने से सुरक्षा व्यवस्था में सेंध लग सकती है। वहीं शारदा बैराज कॉलोनी में रहने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को बिजली पानी की समस्या उत्पन्न हो जाएगी। ऐसे में यूपी सिंचाई विभाग को जनरेटर के जरिए व्यवस्था संचालित करनी पड़ेगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस