जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : डेबिट कार्ड को इंटरनेशनल ट्रांजेक्शन करने के लिए एक्टिव करना गावा चौक, रुद्रपुर निवासी व्यक्ति को महंगा पड़ गया। गूगल पर कस्टमर केयर सर्च करने के बाद मिले नंबर पर कॉल करने से उनके खाते से 2.26 लाख रुपये की नकदी पार हो गई। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

गावा चौक निवासी रमनदीप सिंह ने बताया कि उनके पास डेबिट कार्ड है। डेबिट कार्ड को इंटरनेशनल ट्रांजेक्शन के लिए एक्टिव करना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने गूगल पर सर्च कर कस्टमर केयर नंबर लिया। बाद में उन्होंने कस्टमर नंबर पर कॉल किया। जहां पर उन्हें बताया गया कि इसके लिए उन्हें एनी डेस्क एप डाउनलोड करना पड़ेगा। उनकी बातों पर विश्वास कर उन्होंने एनीडेस्क एप डाउनलोड कर दिया।

आरोप है कि एप डाउनलोड करने के बाद उनके खाते से 2.26 लाख रुपये निकल गए। इसका मैसेज आते ही उनके होश उड़ गए। उन्होंने सर्च किए गए नंबर पर कॉल किया तो वह बंद मिला। रमनदीप सिंह की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाल विक्रम राठौर ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है, जांच की जा रही है। जल्द ही उनके खाते से निकाले गए रुपये वापस करा दिए जाएंगे।

कस्टमर केयर नंबर सर्च करने पर 34 हजार पार

इंदिरा कालोनी निवासी युवक के खाते से साइबर ठगों ने 34 हजार पार कर लिए। पुलिस को सौंपी तहरीर में इंदिरा कालोनी निवासी महेंद्र सिंह ने बताया कि 19 अगस्त 2021 को उन्होंने गूगल पर कस्टूमर केयर नंबर सर्च किया। नंबर पर कॉल करने पर उनसे एटीएम का नंबर मांगा गया। नंबर देते ही उनके खाते से 34845 रुपये निकल गए। महेंद्र की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Edited By: Skand Shukla