जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : कोरोना के कम होते मामलों के बीच बाजार खोलने की मांग को लेकर व्यापारी संगठन लगातार आंदोलन करते रहे। 42 दिन बाद मंगलवार को बाजार खुला। शहर में भीड़भाड़ रही। महिला अस्पताल से कालूसिद्ध मंदिर तिराहे से आगे तक जाम की स्थिति रही। व्यापारियों की मानें तो दुकानों से ग्राहक दूरी बनाए रहे। हालांकि व्यापारी दुकान खोलने का समय बढ़ाने के साथ पूरा बाजार खोलने की मांग पर उतर आए हैं। कपड़ा दुकानों पर अभी कम लोग ही खरीदारी करने निकल रहे हैं। इलेक्ट्रानिक्स व इलेक्ट्रिकल्स बाजार में भी गिनती के ग्राहक ही पहुंचे। बर्तन बाजार में थोड़ी रौनक दिखी। शादी-पूजा पाठ में काम आने वाले बर्तन, कलश, पंचपात्र, थाली, गिलास आदि की अधिक बिक्री रही।

सभी को कमाने-खाने का अधिकार

देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल ने बाजार को पूरी तरह कफ्र्यू से बाहर करने की मांग करते हुए सभी को कमाने-खाने का अधिकार देने की बात कही है। पूरा बाजार खोला जाए। संगठन के संस्थापक अध्यक्ष हुकम सिंह कुंवर ने कहा कि हम लोग प्रदेश सरकार के अगले कदम का इंतजार कर रहे हैं। शराब की दुकानों पर शारीरिक दूरी बेहतरी से पालन कराने की मांग की गई। वर्चुअल बैठक में अनिल खंडेलवाल, रमेश जोशी, राजकुमार केसरवानी, मुकेश बेलवाल, घनश्याम वर्मा आदि मौजूद रहे।

व्यापारियों का उपहास कर रही सरकार

प्रांतीय नगर उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश संगठन प्रभारी वीरेंद्र गुप्ता ने कहा कि प्रदेश सरकार व्यापारियों की मांग को अनदेखा कर रही है। एसओपी में संशोधन व्यापारियों का उपहास करने जैसा है। यूपी में दिनभर बाजार खुल रहा है। उत्तराखंड को पूर्ण बाजार खोलने का निर्णय लेना चाहिए। बाजार पूरे समय के लिए खुलने से भीड़ कम रहेगी।

ज्वैलर्स शॉप, रेस्टोरेंट भी खोले जाएं

देवभूमि व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष अमरजीत सिंह चड्ढा ने व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को रोजाना शाम सात बजे तक खोलने की मांग की है। गोविंद बगडवाल ने कहा कि ज्वैलर्स, जूते की दुकानें, रेस्टोरेंट भी खोले जाएं। व्यापारियों के लिए बैंक लोन चुकाना मुश्किल हो रहा है। व्यापारियों से शारीरिक दूरी का पालन कराने की अपील की। वर्चुअल बैठक में नगर महामंत्री राजीव जायसवाल, प्रदेश उपाध्यक्ष दलजीत सिंह दल्ली, मुकेश ढींगरा, पंकज कपूर मौजूद रहे।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Prashant Mishra