- देर रात बेलुवाखान के देवलढूंगा की घटना, ग्रामीणों में दहशत

- रात में ही युवक को इलाज के लिए हल्द्वानी लाया गया

- ग्रामीणों ने गुलदार को आदमखोर घोषित करने की मांग की जागरण संवाददाता, नैनीताल : मुख्यालय से सटे बेलुवाखान ग्राम पंचायत के देवलढूंगा में घात लगाए बैठे गुलदार ने युवक पर हमला बोल दिया। हमले में युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। भय और पीड़ा में उसने शोर मचाया तो परिजन और पड़ोसी जुट गए। उनके हो हल्ला करने पर गुलदार भाग गया। गंभीर हालत में युवक को उपचार के लिए हल्द्वानी के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रविवार रात को देवलढूंगा निवासी 28 वर्षीय मुकेश सिंह पुत्र पूरन सिंह का खच्चर कहीं चला गया था। मुकेश गांव के आसपास उसकी तलाश में निकल पड़ा। रात करीब 11 बजे घर पहुंचा तो घात लगाए पहले से बैठे गुलदार ने उस पर हमला कर दिया। उसके चिल्लाने पर परिजन और पड़ोसी जुट गए। उन्होंने हो होहल्ला किया तो गुलदार भाग गया। रात में ही मुकेश को उपचार के लिए हल्द्वानी ले जाया गया। ग्राम प्रधान हिमांशु पाडे ने रात में ही घटना की सूचना वन विभाग के अधिकारियों को दी। जिसके बाद वन क्षेत्राधिकारी एनके जोशी रात में ही हल्द्वानी अस्पताल पहुंच गए।

गुस्साए ग्रामीणों ने रेंज कार्यालय पर जड़ा ताला

बेलुवाखान में गुलदार के हमले में युवक के गंभीर होने की घटना के बाद सोमवार को ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने बल्दियाखान स्थित रेंजर कार्यालय पर तालाबंदी करने के साथ वहीं धरने पर बैठ गए। ग्रामीणों ने युवक के उपचार का पूरा खर्च वहन करने तथा गुलदार को आदमखोर घोषित करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।

ग्राम प्रधान हिमांशु पांडे के नेतृत्व में आसपास के जनप्रतिनिधि व ग्रामीण सुबह दस बजे ही रेंज कार्यालय धमक गए। धरना-प्रदर्शन की जानकारी पर डीएफओ बीजूलाल टीआर, एसडीओ दिनकर तिवारी, रेंजर एनके जोशी भी बल्दियाखान पहुंच गए और ग्रामीणों को भरोसा दिया कि जख्मी युवक का उपचार वन विभाग द्वारा कराया जाएगा जबकि गुलदार को आदमखोर घोषित करने के लिए वन्य जीव प्रतिपालक को संस्तुति भेजी जाएगी। ग्रामीणों ने डीएफओ के आश्वासन के बाद पूर्वाह्न 11 बजे से शुरू धरना-प्रदर्शन अपराह्न तीन बजे खत्म किया। इस दौरान प्रधान राम दत्त चन्याल, ज्योली के शेखर भट्ट, चोपड़ा के जीवन चंद्र, गेठिया की मुन्नी चौहान, बल्यूटी की नंदी देवी, उपप्रधान मनोज चन्याल, पूर्व प्रधान धर्मेद्र राजपूत, ममता बिष्ट, आशा, मीना, शांति नेगी, देवकी जोशी, हीरा देवी, महेश जोशी, आशीष चंद्र, भगवती आदि प्रमुख थे।

बेलुवाखान में पिछले दिनों गुलदार का आतंक

09 मई 2014 : जख्मी युवक की चचेरी बहन गीतांजलि पर झपटा

25 फरवरी-2018 : बच्ची जया को गुलदार ने बनाया निवाला

08 अप्रैल : ममता पत्नी कंचन ने गुलदार से बचने को दौड़ लगाई तो गिरकर जख्मी हुई

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस