अल्मोड़ा, जेएनएन : अल्मोडा में कोविड-19 हॉस्पिटल बेस चिकित्सालय में आइसोलेट कोरोना संक्रमितों ने देर रात खूब हंगामा काटा। भोजन की गुणवत्ता पर सवाल उठाते हुए मरीज प्रमुख चिकित्साधिकारी (पीएमएस) को मौके पर बुलाने की जिद पर अड़े रहे। साथ ही भोजन के पैकेट एक कोने में जमा कर खाने से इनकार कर दिया। रात में ही पहुंचे प्रमुख चिकित्साधिकारी व डॉक्टरों ने कोरोना संक्रमितों को समझाने रा प्रयास किया। इधर हो हल्ले के बीज वायरल वीडियो में कई मरीज बगैर मास्क एक साथ खड़े नजर आए। हालांकि पीएमएस ने आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि भोजन का परीक्षण कर ही मरीजों को दिया जा रहा।

 

 

बेस चिकित्सालय स्थित मेडिकल ब्लॉक में बने आइसोलेशन वार्ड में बीती मंगलवार रात कोरोना संक्रमित भड़क उठे। उन्होंने भोजन की गुणवत्ता पर सवाल उठा हंगामा काटा। भोजन में बदबू की शिकायत करते हुए सारे पैकेट एक कोने में जमा कर दिए गए। मैस कर्मियों पर मरीजों को निम्न गुणवत्ता का भोजन उपलब्ध कराने का आरोप लगा प्रमुख चिकित्साधिकारी को मौके पर बुलाने की मांग उठाने लगे। एक मरीज ने खाना खाते ही उल्टी की शिकायत की। हंगामा देर रात तक चलता रहा।

 

बेस अस्पताल के प्रमुख चिकित्साधीक्षक डॉ एचसी गढ़कोटी ने सफाई देते हुए कहा कि कोविड बेस अस्पताल में मरीजों को बेहतर सुविधाएं दी जा रही हैं। खाना चेक कर भेजा जा रहा है। किसी को भी खाना खाने से उल्टी हुई होती तो वह चिकित्सकों को बुलाते हैं। अस्पताल पर लगाए गए आरोप बेबुनियाद हैं। संक्रमण को देखते हुए सादा, संतुलित व पौष्टिक आहार ही दिया जा रहा।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस