जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : भारत विकास परिषद की ओर से आयोजित भारत को जानो प्रतियोगिता शनिवार को शहर के 63 सरकारी व गैर सरकारी विद्यालयों में संपन्न हुई। प्रतियोगिता में 11,000 से अधिक छात्र-छात्राएं शामिल हुए। तकरीबन 45 मिनट की परीक्षा सुबह ग्यारह बजे से शुरू हुई और पौने बारह बजे समाप्त हुई।

भारत विकास परिषद की काठगोदाम और हल्द्वानी शाखा ने संयुक्त रूप से भारत को जानो प्रतियोगिता का आयोजन किया। परिषद की काठगोदाम शाखा के अध्यक्ष डॉ. विनय खुल्लर ने बताया कि प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य विद्यालयों के छात्र-छात्राओं में अपने देश के प्रति प्रेम गर्व एवं समर्पण के भाव जागृत करना है। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता के माध्यम से छात्रों को भारत की प्राचीन संस्कृति, धर्म, इतिहास, भूगोल तथा संतों व आध्यात्मिक विषयों एवं महापुरुषों के साथ-साथ आधुनिक टेक्नोलॉजी उद्योग के बारे में जानकारी प्राप्त हो सकेगी। प्रतियोगिता को लेकर छात्रों में उत्साह रहता है। यही वजह है कि हर साल इसमें भाग लेने वाले छात्रों की संख्या लगातार बढ़ रही है। उन्होंने बताया कि नगर स्तर पर परीक्षा कनिष्ठ व वरिष्ठ वर्ग के छात्र-छात्राएं शामिल हुए। नगर स्तर के स्कूल से दोनों वर्गों से प्रथम, द्वितीय छात्र प्रदेश स्तर की प्रतियोगिता में भाग लेंगे और प्रदेश स्तर पर सफल छात्र राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में शामिल होंगे।

स्कूलों में शिक्षकों के साथ ही परिषद की प्रतियोगिता की संयोजिका पाला मेहता, परिषद के प्रांतीय संगठन सचिव दीपक अग्रवाल, सचिव भवानी शंकर नीरज, दीपक माहेश्वरी, हल्द्वानी शाखा के अध्यक्ष जितेन्द्र साहनी सहित अन्य पदाधिकारियों ने परीक्षा संपन्न कराने में सहयोग किया।

==========

परिषद के सचिव भवानी शकर ने बताया कि वर्ष 2001 में अखिल भारतीय स्तर पर भारत को जानो प्रतियोगिता का शुभारंभ किया गया था। तब से लेकर अब तक लगभग एक लाख छात्र-छात्राएं प्रतियोगिता में प्रतिभाग कर चुके हैं। साल-दर-साल प्रतियोगिता में भाग लेने वाले छात्र छात्राओं की संख्या बढ़ रही है।

Posted By: Jagran