चम्पावत, जागरण संवाददाता : बनबसा बॉर्डर से नेपाल के कंचनपुर जिले में प्रवेश करने वाले भारतीय व्यापारियों को कंचनपुर जिला प्रशासन ने बड़ी राहत दी है। व्यापारियों को अब कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट दिखाने की बाध्यता नहीं होगी, बल्कि उन्हें वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाकर ही नेपाल में प्रवेश मिल जाएगा। कंचनपुर प्रशासन के इस निर्णय को बनबसा के व्यापारियों ने स्वागत किया है।

कोरोना संक्रमण की वजह से नेपाल सीमा बंद होने के कारण लंबे समय तक भारतीय व्यापारी नेपाल नहीं जा पाए। कुछ समय पहले अनिवार्य कोरोना रिपोर्ट के आधार पर स्थानीय व्यापारियों को नेपाल जाने की इजाजत मिली थी। लेकिन नेपाल बॉर्डर पर कड़ाई की वजह से व्यापारियों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही थी। भारतीय व्यापारियों को आ रही परेशानियों को देखते हुए भारत व नेपाल प्रशासन के बीच बीते सोमवार को बैठक हुई थी। था।

इस दौरान भारतीय व्यापारियों ने नेपाल प्रशासन के सामने बॉर्डर पर आवागमन में हो रही परेशानी का मुद्दा उठाया था। अब नेपाल के कंचनपुर प्रशासन ने भारतीय व्यापारियों को अनिवार्य कोरोना रिपोर्ट की बाध्यता खत्म कर केवल वैक्सीनेशन कार्ड के आधार पर नेपाल में प्रवेश के आदेश जारी कर दिए हैं। नेपाल प्रशासन के आदेश के बाद भारतीय व्यापारियों को बड़ी राहत मिली है। बनबसा के वरिष्ठ व्यवसायी व प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के जिला उपाध्यक्ष संजय अग्रवाल एवं पूर्व व्यापार मंडल अध्यक्ष भरत भंडारी ने बताया कि गुरुवार को कंचनपुर प्रशासन ने यह आदेश जारी किया है।

उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण के चलते लंबे समय से सीमावर्ती व्यापारी आर्थिक परेशानी का सामना कर रहे थे। बनबसा का अधिकतर व्यापार नेपाल पर निर्भर है। इस निर्णय से व्यापारियों को होने वाला नुकसान कम होगा। टनकपुर प्रशासन ने भी कंचनपुर प्रशासन के इस निर्णय का स्वागत किया है। एसडीएम हिमांशु कफल्टिया ने बताया कि अभी उनके पास इस बात की अधिकृत जानकारी नहीं है। अगर ऐसा है तो यह व्यापारियों के हित में स्वागत योग्य कदम है।

Edited By: Skand Shukla