नैनीताल (जेएनएन): भारत युवाओं का देश है और इन्‍हीं युवाओं पर निर्भर है देश का भविष्य। नौजवान पढ़ाई के साथ बिजनेस में भी कॅरियर बनाने के लिए जमकर मेहनत कर रहे हैं। अधिकांश के पास अपना स्‍टार्ट अप शुरू करने के लिए बिल्‍कुल नए आइडिया होते हैं, जिनपर वे जीतोड़ मेहनत कर सपनों को साकार करते हैं। लेकिन ज्यादातर लोग बिजनेस में असफल होने के डर से कभी अपने सपनों को पंख नहीं दे पाते हैं। वहीं कई युवा ऐसे होते हैं जो प्राइवेट कंपनी में काम कर अनुभव लेने के बाद अपना काम शुरू करना चाहते हैं, लेकिन चुनौतियों व जोखिम से घबरा कर कदम पीछे खींच लेते हैं। ऐसे में कोई भी काम शुरू करने से पहले जरूरी है कि अपने डर पर जीत हासिल कर आत्‍मविश्‍वास को मजबूत किया जाए।

कोई बिजनेस शुरू करने के पहले ये ख्‍याल हमें नया काम करने रोकते हैं। जैसे, कैसे होगा,कहीं फेल तो नहीं हो जाऊंगा,पैसे तो नहीं डूब जाएंगे, निर्णय तो गलत नहीं है आदि। इसके लिए सबसे पहले जरूरी है कि कोई भी नया काम करने से पहले नकारात्‍मक विचार जेहन में न आने दें। इसके बाद आपको बेहतर योजना, कड़ी मेहनत, मुसीबतों का सामना और समस्याओं का हल निकालने के लिए प्रयास करना पड़ता है। बिजनेस डे पर आइए आपको बताते हैं कुछ अहम और जरूरी बातें जिनपर काम कर शानदार कॅरियर बनाया जा सकता है।

पहले खुद से करें सवाल, फिर ढूंढें उनका जवाब

सबसे और जरूरी बात आप कौन सा व्यवसाय करना चाहते हैं और उसे क्यों करना चाहते हैं। आपका व्यवसाय करने का आखिरी लक्ष्य क्या है? आप कौनसा बिजनेस करना चाहते हैं? आप कौनसा प्रोडक्ट बनाएंगे या कौनसी सर्विसेज देंगे ? क्या आप अपनी हॉबी को व्यवसाय का रूप देना चाहते हैं या फिर कुछ ऐसा करना चाहते है जिस क्षेत्र में आपको अच्छा अनुभव है, आपका प्रोडक्ट क्या होगा? आपके कस्टमर कौन होंगे? खुद से ऐसे सवाल करें और बिजनेस का नेचर जेहन में स्‍पष्‍ट कर लें।

बिजनेस के लिए स्ट्रेटेजी बनाना बेहद जरूरी

व्यवसाय शुरू करने से पहले आपकी बिजनेस स्ट्रेटेजी क्या है? आप कैसे अपने व्यवसाय में सबसे अच्छे उत्पाद बनाएंगे या सेवाएं प्रदान करेंगे? आप का बिजनेस कैसे मार्केट में अलग छाप छोड़ेगा। आपके बिजनेस आइडिया में ऐसी क्या खास बात है कि वो पूरे मार्केट को बदल सकता है। इन बातों पर विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। ये बातें आपकों एक मजबूत दिशा में बढ़ाएंगी।

कहां शुरू करेंगे बिजनेस

किसी भी बिजनेस में लोकेशन बेहद महत्वपूर्ण होता हैं। अपने आसपास की जरूरतों को समझकर प्रोडक्ट की मांग को ध्यान में रखते हुए बिजनेस को प्‍लान करें। ऐसे में इन बातों का ध्‍यान रखें।

आप व्यवसाय कहां से करेंगे?

क्या आप अपने घर से शुरुआत करेंगे या अपने व्यवसाय के लिए अलग से जगह लेंगे?

आपके बिजऩेस के लिए कौनसी जगह सबसे अच्छी रहेगी?

बिजनेस शुरू करने में आने वाले खर्च का ब्यौरा तैयार करें

व्यवसाय शुरू करने में अपने बजट को तैयार करने की जिम्मेदारी पूरी तरह से आप की होगी। शुरुआत में कितने रूपयों की जरूरत होगी और निरंतर रूप से व्यवसाय को चलाने के लिए कितने रूपयों की जरूरत होगी? किसी भी व्यवसाय में तीन पूंजी लेकर चलना बिजनेस को सफल बनाती है जिसमें एक पूंजी ऑर्डर के लिए, एक पूंजी मार्केट में व एक पूंजी से आप के पास होनी चाहिए। आपको अपने व्यवसाय के लिए कौन-कौन सी सम्पतियों की जरूरत पड़ेगी जैसे भवन, जमीन, मशीनरी, फर्नीचर, वाहन आदि इनका इंतजाम कैसे करेंगे(खरीदेंगे या किराये पर लेंगे)। व्यवसाय को निरंतर रूप से चलाने के लिए सैलरी, रखरखाव के खर्चे, किराया, विभिन्न प्रकार के कंसलटेंट की फीस की जरूरत पड़ेगी।

मार्केट रिर्सच बेहद अहम

आप को कहीं भी मार्केट शुरू करने से पहले विभिन्न तरीकों से रिसर्च कर सकते है इन्टरनेट से जानकारी जुटाकर, बड़े-बड़े व्यवसाइयों से संपर्क करके, मार्केट के जानकारों से मिलकर या ई मेल करके, मार्केट की बड़ी-बड़ी कंपनियों की रिपोर्ट पढ़कर आप बेहतर शोध कर सकते हैं। सबसे ज्यादा कौनसा प्रोडक्ट बिक रहा है और क्यों? प्रोडक्ट में ऐसी कौनसी कमियां है जिसे अपने प्रोडक्ट में दूर करके मार्केट लीडर बना जा सकता है?

प्रोडक्ट की मार्केटिग बेहद जरूरी

आज प्रोडेक्ट कितना भी बेहतर हो अगर आप ब्रॉडिंग नहीं कर पा रहे हैं तो यह आप को असफलता की और ले जाएगा। इसके लिए जरूरी है कि आप अपने ब्रांड की मार्केटिंग की रणनीति तैयार करें।

बिजनेस के लिए बजट बेहद जरूरी

आपकी वितीय जरूरतें कैसे पूरी होंगी? क्या आप बैंक से लोन लेंगे, रिश्तेदारों और दोस्तों से लोन लेंगे या फिर खुद के पैसे से ही व्यवसाय शुरू करेंगे? आजकल स्टार्टअप फंडिंग के कई सारे नए नए स्त्रोत उपलब्ध है जैसे एंजेल इन्वेस्टर्स, वेंचर कैपिटल फण्ड, क्राउड-फंडिंग आदि। आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्टार्ट अप योजना व मुद्रा योजना के तहत युवाओं को बिजनेस शुरू करने में वित्तिय संकट से राहत जरूर दिया है।

Posted By: Skand Shukla