जागरण संवाददाता, पिथौरागढ़ : उत्तराखंड में अवैध शराब के कारोबारियों का नेटवर्क कितना मजबूत है इसका  नमूना शुक्रवार को पिथौरागढ़ में सामने आया। राजस्थान से तीन-तीन राज्यों की सीमा पार कर लाखों की अवैध शराब उत्तराखंड के सीमांत जिले तक पहुंच गई। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने शराब पकड़ ली। पहाड़ पर नशे का कारोबार तेजी से फैलता जा रहा है। राज्य के बाहर से कम कीमत पर नशा यहां तस्कर महंगे में बेचते हैं। पहाड़ का युवा खासकर स्कूल कालेज के बच्चे इसकी गिरफ्त में अधिक हैं। एक तो पलायन ऊपर से युवाओं को नशा बर्बाद कर रहा है। पुलिस धरपकड़ तो करती है पर इस पर लगाम लगता दिख नहीं रहा है।

पुलिस को जिले के गंगोलीहाट क्षेत्र में भारी मात्रा में अवैध शराब लाए जाने की सूचना मिली। अवैध शराब को पकडऩे के लिए एसओजी और गंगोलीहाट थाने की संयुक्त टीम गठित की गई। टीम ने पिथौरागढ़, अल्मोड़ा और गंगोलीहाट को जोडऩे वाले पनार बैरियर पर वाहनों की चैकिंग शुरू  की। पुल पर पहुंची हरियाणा नंबर की पिकप एचआर 66 बी-7075 से 85 पेटी राजस्थान में बनी शराब के साथ ही 06 बोतल अवैध शराब बरामद हुई।

संयुक्त टीम ने वाहन में सवार प्रकाश यादव निवासी ग्राम रामबास, जिला अलवर राजस्थान और पवन यादव ग्राम काकरदोसा जिला अलवर, राजस्थान को गिरफ्तार कर लिया। बरामद शराब और पिकप सीज कर दी गई है। शराब बरामद करने वाली टीम में एसओजी प्रभारी जावेद हसन, गंगोलीलाट थाना प्रभारी दिनेश चंद्र सिंह, कांस्टेबल मनमोहन भंडारी, बलवंत सिंह, राकेश बोरा, नीरज चंद, आन सिंह आदि शामिल थे। पकड़ी गई शराब की कीमत लाखों रू पये आंकी गई थी। शराब कहां पहुंचाई जा रही थी इसका खुलासा पुलिस ने नहीं किया है।

Edited By: Prashant Mishra