हल्द्वानी, जेएनएन : गर्भपात कराने के बाद तीन तलाक बोल हलाला का दबाव बनाने के मामले में पुलिस ने पति समेत चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। मुकदमें की जांच के बाद गिरफ्तारी होगी। बनभूलपुरा निवासी एक युवती का निकाह आठ माह पूर्व लाइन नंबर 16 कब्रिस्तान गेट निवासी उस्मान के साथ हुआ था। शादी के बाद युवती को पता चला कि पति आए दिन शराब व स्मैक के नशे में चूर रहता है।

 

वहीं, ससुराली लगातार दहेज के लिए परेशान कर रहे थे। आरोप है कि गर्भ ठहरने पर ससुराल पक्ष के लोगों ने जेठानी व जेठ संग मिलकर नशीली कोल्ड ड्रिंक पिला गर्भपात भी करा दिया। जिसके बाद मामला महिला हेल्पलाइन पहुंचा। जहां लोकलाज के डर से पीडि़ता ने समझौता कर दोबारा ससुराल में रहने को हामी भर दी। मगर ससुराल पहुंचने पर उसे घर में घुसने नहीं दिया। इस बीच पति, जेठ व ससुर कहने लगे कि तुझे तीन तलाक दे दिया है। अब अगर दोबारा पति के साथ रहना है तो ससुर या जेठ से निकाह कर हलाला की रस्म पूरी करनी होगी। तभी दोबारा पति से शादी हो सकेगी। जिसके बाद पीडि़ता ने महिला आयोग की पूर्व उपाध्यक्ष अमृता लोहनी से संपर्क साध मदद मांगी।

 

फिर लोहनी पीड़िता को साथ लेकर सीओ शांतनु पराशर के पास पहुंची। जिसके बीते मंगलवार को मामले में बनभूलपुरा थाने में आरोपितों के खिलाफ तहरीर सौंपी गई। इधर, थानाध्यक्ष बनभूलपुरा सुशील कुमार ने बताया कि मामले में पति उस्मान, जेठानी शहनाज, जेठ इकराम व ससुर के खिलाफ मारपीट, धमकी, जबरन गर्भपात कराने, दहेज उत्पीडऩ और 3/4 मुस्लिम महिला अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

 

 

Edited By: Skand Shukla