नैनीताल, जेएनएन : हाई कोर्ट ने पांच सौ करोड़ रुपए से अधिक के चर्चित समाज कल्याण छात्रवृत्ति घोटाले के मामले में दायर जनहित याचिकाओं पर सोमवार का सुनवाई हुई। कोर्ट ने राज्य सरकार से कहा है कि मंगलवार को शपथपत्र पेश करने को कहा है। मामले में कोर्ट ने अगली सुनवाई कल मंगलवार के लिए नियत कर दी है। सोमवार को राज्य सरकार ने कोर्ट से अनुरोध किया कि सभी मामलों की जांच एसआईटी से कराई जाए। पिछली तिथि को सरकार की तरफ से नियुक्त विशेष काउंसिल पुष्पा जोशी व ललित सामन्त ने मुख्य सचिव की तरफ से शपथपत्र पेश कर कहा था कि मामले की जांच सीबीआई को न देकर एसआईटी से कराई जाय और सरकार को इसके लिए छः माह का समय दिया जाए।

 

कार्यवाहक मुख्य न्यायधीश रवि कुमार मलिमठ व न्यायमूर्ति रविन्द्र मैठाणी की खण्डपीठ में देहरादून निवासी रविन्द्र जुगरान , एसके सिंह व सुभाष नौटियाल की जनहित याचिका पर सुनवाई हुई। जिसमें कहा है कि प्रदेश में अनुसूचित जाति व जनजाति के छात्रों की छात्रवृत्ति का घोटाला 2005 से किया जा रहा है। यह घोटाला पांच सौ करोड़ रुपए से अधिक का है, इसलिए इस मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए। छात्रवृति का पैसा छात्रों को न देकर स्कूलों को दिया गया या फिर उन लोगों को दिया गया है जो उस स्कूल के छात्र थे ही नहीं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस