काशीपुर, जागरण संवाददाता : इंटरनेट मीडिया के जरिए युवती के संपर्क में आए एक युवक को दोस्ती मंहगी पड़ गई। मुरादाबाद निवासी युवक वाट्सएप चैट के जरिये तकरीबन महीने भर जुड़ा रहा। युवती ने मिलने का झांसा देकर उसे काशीपुर में सूनसान लोकेशन पर बुलाया। युवक जब वहा पहुंचा ताे मौके पर तीन लड़के आ धमके और डराते हूए बाइक लूटकर फरार हो गए। पीड़ित ने मामले में आइटीआइ पुलिस में तहरीर दी है जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

मो. इकराम पुत्र अलीमुद्​दीन ठाकुरद्वारा मुरादाबाद को शेयर चैट एप पर एक युवती का नंबर मिला। इस दौरान उसने कॉल किया तो कॉल रिसीव नहीं हुई, लेकिन उसे वाट्सएप पर मैसेज आने लगे। इसके बाद वह युवती से वाट्सएप पर ही चैटिंग करने लगा। इस दौरान दोनों की दोस्ती प्यार में तब्दील होती गई। वह युवती के झांसे में पूरी तरह आ चुका था। वह युवती के कहने पर उसे पैसे भी भेजता था। युवती ने बताया कि वह काशीपुर में एक बड़े कंपनी में कार्यरत है और मिलने की इच्छा जताई। मिलने के लिए मंगलवार को युवक इकराम अपने तहेरे भाई आजम के साथ काशीपुर आ पहुंचा। इस दौरान चैट के जरिये इकराम युवती के संपर्क में था। आइजीएल कंपनी के पास से एक सड़क की तरफ उसे मुड़ने के लिए बोला और एक सुनसान जगह पर रुकने को कहा।

तकरीबन 10 मिनट बाद उसी जगह पर बाइक से तीन युवक पहुंचे और उन्होंने इकराम काे इस इलाके में कहां घूमने की बात पूछी और उसके बाद उसपर हमला बोलते हुए बाइक की चाभी निकाल ली। युवकों ने धमकी देते हुए इकराम और उसके भाई को भागने काे कहा और खुद तीनों बाइक लूट कर फरार हो गए। मामले के बाद युवक ने उस युवती को संदेश भेजा लेकिन उसका कोई रिप्लाई नहीं आया। तब डर की वजह से वह मुरादाबाद लौट गया। स्वजनों ने जब बाइक के बारे में पूछा तो उसने पूरी कहानी बताई। मामले में युवक ने आइटीआइ थाने में तहरीर दी है। जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले में थाना प्रभारी विद्यादत्त जोशी का कहना है कि मामले में जांच शुरू कर दी गई।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Skand Shukla