संवाद सहयोगी, रामनगर: कोरोना वायरस के खतरे के चलते घोषित लॉकडाउन में कई निर्धन परिवारों के समक्ष रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। ऐसे में उनकी मदद के लिए रामनगर में नेकी की दीवार संस्था ने नेक पहल की है। बुधवार को संस्था के संयोजक ताराचंद्र घिल्डियाल ने टीम के साथ जरूरतमंद लोगों की सूची तैयार की। इसके बाद प्रात: सात से दस बजे तक ग्राम चोरपानी, ऊंटपड़ाव व खताड़ी में नौ निर्धन परिवारों को जरूरी खाद्यान्न मुहैया कराया।

संस्था के पदाधिकारियों ने लोगों से कहा कि किसी भी निर्धन परिवार को खाद्यान्न की जरूरत हो तो वह उनसे संपर्क स्थापित कर सकता है। संस्था का पूरा प्रयास रहेगा कि लॉकडाउन के दौरान कोई भी व्यक्ति भूखा-प्यास न रहे। संस्था के पदाधिकारियों ने लोगों से भी अपील है कि अपने आसपास किसी जरूरतमंद को भूखे नहीं सोने दें। इस संकल्प के साथ सब लोग इस लड़ाई को आराम से जीत लेंगे। इस दौरान राकेश छिमवाल, गुरजिंदर जोहल, देवेंद्र रस्तोगी, मोहम्मद आरिफ, देवेंद्र कुमार, उमाशकर टम्टा आदि मौजूद रहे।

उधर नैनीताल में लॉकडाउन के दौरान पुलिस कर्मी जहां बिना वजह बाहर निकलने पर सख्ती बरत रही है, वहीं जरूरतमंदों की मदद भी कर रही है। बुधवार को तल्लीताल पुलिस को भूमियांधार निवासी बुजुर्ग ने 112 नंबर पर कॉल कर घर में खाद्य सामग्री खत्म होने की जानकारी दी। पुलिस ने दंपती 75 वर्षीय दयाल राम से जरूरी सामान की सूची मांगी, जिसके बाद ज्योलीकोट चौकी प्रभारी चंद्रशेखर कन्याल समेत अन्य पुलिस कर्मी दस किलो आटा, दो किलो दाल, एक किलो चीनी, चाय, तेल और अन्य सामान लेकर उनके घर पहुंच गए। दंपती ने पुलिस के इस कार्य की सराहना करने के साथ ही खूब दुआ भी दी। उधर तल्लीताल थाने के एसआइ दलीप कुमार ने भूख से तड़प रहे एक मजदूर को भोजन कराया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस