रुद्रपुर, जागरण संवाददाता : रुद्रपुर के भूतबंगला में दो पक्षों के बीच विवाद बढ़ने के दौरान फायरिंग हो गई। गोली सामने खड़ी इनोवा कार में जा लगी। इस दौरान बीच बचाव में आया एक युवक सिर पर डंडा लगने से घायल हो गया। सूचना पर हरकत में आई पुलिस ने दोनों पक्षों के पांच लोगों को हिरासत में ले लिया। एसपी सिटी ने भी कोतवाली पहुंच कर घटना की जानकारी ली।

भूतबंगला में दो पक्षों के बीच विवाद के चलते मारपीट हो गई। इस दौरान वहां से निकल रहे रिजवान पुत्र नजीर अहमद निवासी खेड़ा नई बस्ती ने जब अपने साथी को पिटते हुए देखा तो वह बीच-बचाव में कार रोक कर उतर गया। जिस पर हमला करने वाले युवक जिसे पीट रहे थे, उसे छोड़कर बीच बचाव में उतरे रिजवान पर हमलावर हो गए। आरोप है कि आरोपित रिजवान के सिर पर डंडा मार दिया। जिससे वह लहुलूहान होकर गिर गया। इसी दौरान वहां मौजूद युवकों ने उस पर फायर झोंक दिए। फायर टारगेट बना कर किए गए, लेकिन वह रिजवान को न लगकर वहां खड़ी इनोवा कार में जा लगे। दो फायर किए जाने की बात सामने आई है।

फायरिंग की सूचना पर पुलिस में हड़कंप मच गया। एसएसआइ सतीश कापड़ी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने घेराबंदी कर दोनों पक्षों के पांच लोगों को दबोच लिया। एसपी सिटी ममता वोहरा ने भी कोतवाली पहुंच कर संदेह के आधार पर पकड़े दोनों पक्षों के लोगों से पूछताछ की। दोनों ही पक्ष एक दूसरे पर फायरिंग का आरोप लगा रहे है। जिससे पुलिस की मुश्किलें और बढ़ गई है। गनीमत यह रही कि गोली किसी के लगी नहीं। जिससे बड़ा हादसा टल गया। फिलहाल पुलिस ने जिस इनोवा कार पर फायर लगे है उसे रम्पुरा चौकी पर खड़ा करवा दिया है।

तमंचे ले घूम रहे बच्चे, स्वजनों को नहीं होश

फायरिंग करने का जिन पर आरोप लग रहा है वह कक्षा 10 व 11 में पढ़ने वाले किशोर है। जिस उम्र में उनको कलम का प्रयोग करना चाहिए, उस दौर में वह तमंचों से खेल रहे है। उनके स्वजनों को भी इस बात का होश नहीं कि उनके बच्चे पढ़ाई की जगह खतरनाक खेल खेल रहे है और उनके हाथ में कलम नहीं तमंचे का ट्रिगर है, जिसके चलते उनके भविष्य का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है।

दोनों पक्ष ने लगाया फायरिंग का आरोप

एसपी सिटी रुद्रपुर ममता वोहरा ने बताया कि फायरिंग की सूचना पर पुलिस तुरंत हरकत में आ गई, दोनों पक्षों के लोगों से पूछताछ कर मामले की जांच की जा रही है, दोनों ही पक्ष एक दूसरे पर फायरिंग का आरोप लगा रहे है। जांच के बाद ही स्थिति सामने आ पाएगी। तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Skand Shukla