जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : कोतवाली में खड़े सीज वाहनों में आग पकडऩे से हड़कंप मच गया। पुलिस कर्मचारियों ने बाल्टी में पानी भर कर आग बुझाने का प्रयास किया। बाद में फायर ब्रिग्रेड ने भी मौके पर पहुंचकर आग को ठंडा किया। इससे पहले कई वाहनों के टायर जल गए।

कोतवाली परिसर के विभिन्न कमरों के सुंदरीकरण का कार्य लंबे समय से किया जा रहा है। इसी क्रम में महिला हेल्प डेस्क भवन में लोहे की खिड़कियां लगाने का कार्य किया जा रहा है। जिसके लिए शादाब और बिलाल नाम के दो मजदूर वेल्डिंग का कार्य कर रहे थे। वेल्डिंग कार्य के ठीक बगल में ही सीज की गई कारें खड़ी थी। मजदूरों की लापरवाही के चलते वेल्डिंग की चिंगारी से कार के टायर में आग लग गई। इसी तरह एक के बाद दूसरे वाहन के टायर में भी आग लग गई। जिससे मौके पर आग की लपटे निकलने लगी। आग की लपटें तेज होती देख मजदूरों के हाथ पैर फूल गए। जानकारी के बाद पुलिस कर्मी भी पानी की बाल्टी लेकर पहुंचे और आग बुझाने के लिए कार्य शुरू कर दिया गया। करीब 20 से 25 बाल्टी पानी डालने के बाद आग की लपटें शांत हो गई, लेकिन धुआं निकलता रहा। सूचना पर पहुंचे फायर ब्रिग्रेड वाहन ने अच्छी तरह से आग बुझाई। कोतवाली के वरिष्ठ उपनिरीक्षक कैलाश सिंह नेगी ने बताया कि लोगों के सहयोग से आग पर काबू पा लिया गया है। आग बुझने से एक बड़ा हादसा टल गया।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप