जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : हरिद्वार जिले के रुड़की की बाट-माप मैन्यूफैक्च¨रग कंपनी हल्द्वानी में अवैध तरीके से शोरूम खोलकर मशीनों की बिक्री कर रही थी। एक लाइसेंस धारक की शिकायत पर मंगलवार को बाट-माप विभाग की छापेमारी में इसकी पुष्टि हुई है। महकमे ने शोरूम बंद करवाने के साथ ही कंपनी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है।

रुड़की के भगवानपुर की डीपीएस वेइंग स्केल सिस्टम नाम की कंपनी बाट-माप की इलेक्ट्रॉनिक मशीनें बनाती है। बाट-माप विभाग की आंखों में धूल झोंककर यह कंपनी बाट-माप मशीनों की बिक्री भी कर रही थी। बरेली रोड पर अब्दुल्ला बिल्डिंग के पास बकायदा मशीनों का शोरूम खोला गया था। महेंद्रा कांटा कंपनी के नाम से फर्म चलाने वाले रुद्रपुर के योगेश त्यागी ने इसकी शिकायत महकमे के अफसरों से की। इस पर मंगलवार को महकमे के इंस्पेक्टर एनएम पंत के नेतृत्व में टीम ने बरेली रोड स्थित शोरूम पर छापेमारी की। इंस्पेक्टर पंत ने बताया कि शोरूम में मिले कर्मचारी इसे गोदाम बता रहे थे, जबकि इलेक्ट्रॉनिक कांटे बिक्री के लिए रखे दिखे। इस शोरूम का लाइसेंस भी मौके पर मौजूद स्टाफ नहीं दिखा सका।

जांच में कुछ 120 इलेक्ट्रॉनिक कांटे पाए गए। जबकि प्रतिनिधियों ने तीन बिल दिखाए। ये 180 कांटों के बिल थे। अन्य कांटों के बारे में भी मौजूद सेल्समैन संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। प्रथम दृष्टया बिना लाइसेंस बाट-माप बेचने पर डीपीएस वेइंग स्केल सिस्टम कंपनी के प्रबंधन के खिलाफ विधिक माप विज्ञान अधिनियम 2009 की धारा 23 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मंगलवार को कंपनी को नोटिस भेजकर पक्ष लेने के लिए बुलाया जाएगा। यदि संतोषजनक जवाब नहीं मिला तो वैधानिक कार्रवाई होगी।

Posted By: Jagran