जागरण संवाददाता, शांतिपुरी (ऊधमसिंह नगर) : सीएम पुष्कर सिंह धामी नगला चौराहे पर पहुंचे तो कार्यकर्ताओं ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। यहां पर सीएम ने कोर्ट के नगला से अतिक्रमण हटाने के आदेश पर कहा कि वह कोर्ट का सम्मान करते हैं। नगलावासियों को उजडऩे से बचाने के प्रयास करेंगे। वह नगला को नगर पंचायत बनाएंगे। इसके अलावा किच्छा विधायक के साथ पीपल चौराहे से फूलबाग तक साइकिल चलाकर टोक्यो में चल रहे ओलंपिक खिलाडिय़ों का हौसला बढ़ाया।

उन्होंने कार्यकर्ताओं में मिशन 2022 फतह करने के लिए अभी से जुट जाने का जोश भरा। इसके बाद रोड शो निकाला। रोड शो गोलगेट ओर जवाहरनगर में नहीं रुका तो नाराज कुछ लोग सीएम के विरोध में नारेबाजी करने लगे। लोग क्षेत्र की समस्याओं को सीएम से अवगत कराना चाहते थे। जवाहरनगर की प्रधान दीपा कांडपाल व उनके पति ललित कांडपाल मुख्यमंत्री को रोकने के लिए मुख्य सड़क पर बैठ गए। इससे पुलिस के हाथ पांव फूल गए। आनन फानन पुलिस ने किसी तरह ललित कांडपाल को सड़क से जबरन हटाया। लोगों ने पर्वतीय लोगों के साथ शुरू से सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया। इसका जवाब विधान सभा चुनाव में दिया जाएगा।

कहा कि जवाहरनगर को स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का गांव कहा जाता है। मुख्यमंत्री व विधायक ने गांव में न रुककर ग्रामीणों का अपमान किया है। शांतिपुरी गेट पर सीएम का कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। इसके बाद सीएम किच्छा चले गए। ग्राम कनकपुर में पहुंचे सीएम ने शहीद देव बहादुर स्मृति द्वार का शुभारंभ किया। इस दौरान शहीद के स्वजनों ने कहा कि देव बहादुर के शहीद होने के बाद राज्य सरकार ने मुआवजा देने की घोषणा की थी,मगर अभी तक नहीं मिला है। इस पर सीएम ने डीएम रंजना राजगुरु को मामले को चेक कराकर मुआवजा देने को कहा।

उन्होंने लोगों से कहा कि भाजपा सरकार में सभी वर्गों का विकास हो रहा है। कहा कि राजकीय इंटर कालेज कनकपुर का नाम शहीद देव बहादुर के नाम रखने की घोषणा की। इससे पहले सीएम व किच्छा विधायक राजेश शुक्ला ने कार्यकर्ताओं के साथ पीपल चौराहे से फूलबाग तक ओलंपिक खिलाडिय़ों के उत्साहवर्धन के लिए साईकिल रैली निकाली।

Edited By: Prashant Mishra