जागरण संवाददाता, पंतनगर : कंपनी की ओर से 66 हजार का सामान देकर हरियाणा भेजा गया एक कर्मचारी गायब हो गया। कई दिन बीतने के बाद भी जब वह हरियाणा नहीं पहुंचा तो उसे कॉल किया गया। आरोप है कि अब वह कॉल नहीं उठा रहा है। मैन पावर कंपनी ने पंतनगर थाना पुलिस को तहरीर सौंप आरोपित पर माल हड़पने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है।

सिडकुल की कर्मा मैन पावर एंड मैनेजमेंट सर्विस कंपनी के केएस यादव ने पंतनगर थाने में दी तहरीर में कहा है कि उनकी फर्म सिडकुल की सेक्टर 11 स्थित कंपनी इंटरफेस माइक्रो सिस्टम को संविदा पर कर्मचारी उपलब्ध कराती है। इनमें से अल्मोड़ा, चानोदा निवासी कर्मचारी को कंपनी की ओर से आवश्यक सामान लेकर कंपनी की दूसरी यूनिट गुरुग्राम हरियाणा भेजा गया था। साथ ही उसे पांच हजार रुपये भी दिए थे। उसे सात जुलाई को हरियाणा पहुंचनता था लेकिन वह सामान लेकर नहीं पहुंचा। इस पर उसे लगातार फोन किए जा रहे हैं वह कॉल रिसिव नहीं कर रहा है। केएस यादव ने कर्मचारी पर सामान हड़पने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है। एसआई प्रकाश बिष्ट ने बताया कि तहरीर मिली है, जांच की जा रही है। इसके बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

स्मैक के साथ किच्छा में तस्कर दबोचा

किच्छा : कुरैशी मोहल्ले में स्मेक बेचते पुलिस ने तस्कर को रंगे हाथ दबोच लिया। वहां स्मेक खरीदने आए दो लोग पुलिस को देख भाग निकले। पुलिस ने पकड़े गए तस्कर के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। शुक्रवार एसआई प्रकाश राम विश्वकर्मा, का. विजय सिंह के साथ गश्त पर थे। जब वह वार्ड नंबर 15 को जाने वाली पुलिया पर पहुँचे तो वहां चीता मोबाइल पर तैनाम का. गंगा सिंह व बृजमोहन सिंह  भी मिल गए। जब वह गश्त करते कुरैशी मौहले से सिरोली कलां थाना पुलभट़टा को जाने वाली सडक पर अनीस की डेरी के सामने पहुंचे तो एक मकान के पीछे किनारे बैठे तीन लोग पुलिस को देख भाग खड़े गए। शक होने  पर  पुलिस कर्मियों ने पीछा कर एक युवक को दबोचा तो उसने अपने हाथ में पकड़ा छोटा इलेक्ट्रानिक तराजु फेंक दिया। पुलिस ने उसके पास से बरामद पन्नी में 5.24 ग्राम स्मेक बरामद कर ली। पकड़े गए तस्कर ने अपना नाम मो. अकरम पुत्र माे. असलम उम्र 25 वर्ष निवासी वार्ड न0 15 कुरैशी मौहल्ला किच्छा बताया। उसने  पूछताछ में बताया कि वह सिरोली कलां से स्मेक लाकर बेचता है और वहां पर स्मेक पीने वालों को तौल  कर दे रहा था। पुलिस उससे स्मेक के काले कारोबार में लिप्त लोगों के बारे में  जानकारी जुटाने में लगी है।

Edited By: Prashant Mishra