जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : नैनीताल जिले के एमबीपीजी कालेज के एंटी ड्रग क्लब की ओर से कालेज में नशामुक्ति के लिए डिग्री व डिप्लोमा कोर्स संचालित किया जाएगा। कोर्स में प्रवेश के बाद छात्र-छात्राएं नशे से लोगों को दूर रखने के लिए काउंसलिंग कर सकेंगे। बता दें कि उत्‍तराखंड में नशे का कारोबार तेजी से फैल रहा है। बड़ी तादाद में युवा इसकी चपेट में आ रहे हैं। ऐसे में नशे को नियंत्रित करने और युवाओं में चेतना जगाने के लिए डिप्‍लोमा और डिग्री कोर्स शुरू करने की कवायद शुरू की गई है।

कालेज के कांफ्रेंस हाल में गुरुवार को नशामुक्ति के लिए जागरूकता कार्यक्रम किया गया। महाविद्यालय के एंटी ड्रग क्लब, जिला प्रशासन व समाज कल्याण विभाग के वक्ताओं ने अपने विचार रखे। इस दौरान नशा छोड़ चुके युवाओं ने अपने अनुभव साझा किए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कुमाऊं विश्वविद्यालय के प्रोफेसर अनिल कपूर डब्बू थे। उन्होंने कहा कि नशामुक्ति एक ईश्वरीय कार्य है। महाविद्यालय के एंटी ड्रग क्लब के नोडल आफिसर डा. एचएस भाकुनी ने एनडीपीएस एक्ट व इसके दंड के विभिन्न प्रावधान के बारे बताया।

उन्होंने कहा कि पंजाब जैसी स्थिति हमारे उत्तराखंड राज्य की नहीं होनी चाहिए। विकल्प संस्था की ओर से नाटक भी प्रस्तुत किया गया। इस दौरान अतिरिक्त जिला समाज कल्याण अधिकारी मोहम्मद चांद, सहायक समाज कल्याण अधिकारी असलम अली, रश्मि पंत, प्रदीप गोयल, प्रोफेसर गोविंद बोरा, मनोज, प्रतीक्षा, राज चौहान, मोहित, अनुपम, गौरव, अनुष्का सहित कई छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Edited By: Skand Shukla