हल्द्वानी, जेएनएन : इंसानियत का परिचय देते हुए पुलिस ने जब सात सौ गरीबों की ठंड दूर करने के लिए हाथों में रजाई थमाई तो सभी के चेहरे खिल उठे। यही वजह है कि रजाई लेकर घर लौटते वक्त सभी पुलिस की तारीफ करते दिखे। डीआइजी जगत राम जोशी ने कहा कि पुलिस पर विश्वास और सहयोग की अपेक्षा जगाने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। आगे भी गरीब और बेसहारा लोगों की मदद की जाएगी।

असहाय लोगों को बुलाकर रजाई बांटी

स्पो‌र्ट्स स्टेडियम हल्द्वानी में रविवार को पुलिस ने उन सात सौ असहाय लोगों को बुलाकर रजाई बांटी, जिन्हें चौकी-थाना क्षेत्र की टीम कई दिन से चिह्नित कर रही थी। कार्यक्रम से पूर्व सभी को टोकन दिए गए थे। ताकि कोई भी पात्र व्यक्ति छूट न जाए। सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में और लोग भी पहुंच गए। कोतवाली तक में भीड़ जुट गई। हालांकि रजिस्ट्रेशन न होने की वजह से उनका नंबर अगली बार आएगा। वहीं, डीआइजी ने कहा कि पुलिस का मुख्य काम अपराध को नियंत्रित करना है। इस तरह के आयोजन जनता व पुलिस के बीच की दूरियों को खत्म करते हैं।

इन्‍होंने उपलब्‍ध कराई मदद

राहत सामग्री उपलब्ध करवाने में क्रशर स्वामी अभिषेक अग्रवाल, संजय अग्रवाल व राजेश अग्रवाल का भी सहयोग रहा। इस दौरान एसपी क्राइम एंड ट्रैफिक रचिता जुयाल, एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव, सीओ दिनेश चंद्र ढौंडियाल, कोतवाल विक्रम सिंह राठौर, एसओ भगवान सिंह महर आदि शामिल रहे।

अब दिव्यांगों की मदद

डीआइजी ने पहले बुजुर्गो व गरीब लोगों की मदद पर फोकस किया। कार्यक्रम के दौरान बताया कि अब दिव्यांग लोगों को व्हीलचेयर, चश्मे व अन्य राहत सामग्री वितरित की जाएगी। इसके अलावा असहाय लोगों के लिए मेडिकल कैंप लगवाए जाएंगे। गाड़ी से भिजवाए गए लोग डीआइजी के निर्देश पर सभी-थाना चौकी प्रभारियों ने अपने-अपने क्षेत्र में रहने वाले गरीब लोगों को चिह्नित करने के बाद उनका रजिस्ट्रेशन किया। काठगोदाम और मुखानी थाने की पुलिस ने टेंपो व अन्य साधनों से इन्हें आयोजन स्थल पर पहुंचाया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस