जागरण संवाददाता, रामनगर : कोविड के बढ़ते संक्रमण का असर कार्बेट और रामनगर के पर्यटन कारोबार पर दिखने लगा है। कार्बेट में सफारी व होटल-रिसार्ट में पर्यटकों की एडवांस बुकिंग भी निरस्त होने लगी है। आगे के लिए एडवांस बुकिंग भी न के बराबर हो रही है।

देश में कोविड के खतरे को देखते हुए पर्यटक भी कार्बेट समेत अन्य पर्यटन स्थलों की ओर आने से बच रहे हैं। कार्बेट के ढिकाला जोन में डे सफारी के लिए पहले सुबह-शाम जहां चार कैंटर चल रहे थे अब दो या तीन ही जा रहे हैं। पिछले तीन दिनों से यहां पर्यटकों की संख्या में लगातार कमी आ रही है। मंगलवार व बुधवार को भी दो ही कैंटरों से पर्यटक सफारी के लिए गए। पर्यटक रामनगर के होटल व रिसार्ट में भी बुकिंग निरस्त करा रहे हैं। इसका असर कार्बेट के पर्यटन पर भी पड़ता है।

सीटीआर के निदेशक राहुल का कहना है क‍ि कोविड का असर तो सभी क्षेत्रों में दिखने लगा है। पिछले साल कार्बेट बंद रहने से निरस्त हुई बुकिंग की रकम भी लौटानी पड़ी थी। हालांकि अभी कोविड गाइडलाइन के तहत पार्क में सफारी कराई जा रही है। आगे जैसे शासन स्‍तर से निर्देश आएगा उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

होटल एंड रिसार्ट एसोसिएशन रामनगर के अध्यक्ष हरीमान सिंह ने बताया कि जनवरी में उनके रिसार्ट में साढ़े सात सौ लोगों के तीन गु्रपों की अलग-अलग दिन बुकिंग थी। वह अब निरस्त हो चुकी है। इसी माह रिसार्ट के कमरों व शादियों की बुकिंग भी निरस्त होने लगी है। फरवरी की भी अभी कोई एडवांस बुकिंग नहीं आई है। यह स्थिति लगभग सभी रिसार्ट व होटलों में है।

Edited By: Skand Shukla