हल्द्वानी, जेएनएन : पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने रविवार को कांग्रेसियों के अलावा आम लोगों को भी ककड़ी, रायता और चटनी का स्वाद चखाया। हरदा ने कहा कि पहाड़ी उत्पादों का प्रचार करना उनका मकसद है। इस दिशा में निरंतर काम किया जाएगा। तमाम तरह के गुणों से भरपूर हमारे व्यंजनों को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिलनी चाहिए।

काफल, आम के बाद अब पूर्व सीएम ने रविवार को हल्द्वानी में ककड़ी-रायता और गेटी के गुटके की पार्टी का आयोजन किया। पीलीकोठी स्थित एक बैंक्वेट हॉल में आयोजित कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश, राज्यसभा सदस्य प्रदीप टम्टा समेत कांग्रेस के अधिकांश बड़े कांग्रेसियों ने उपस्थिति दर्ज कराई। समूह की महिलाओं के बीच चटनी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। इस दौरान पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि पहाड़ के पारंपरिक उत्पाद पूर्ण रूप से जैविक होने के साथ ही स्वास्थ्य व आयवर्धक भी हैं। हमारे पास अमूल खजाना है। हमारा फोकस इस बात पर होना चाहिए कि किस तरह का इनका संरक्षण और मार्केटिंग हो। पहाड़ के हर जिले में अलग-अलग व्यंजनों की भरमार है और सबका अपना महत्व है। पार्टी में जसपुर की कचरी और अमरूद खाने को लेकर भी लोगों में खासी उत्सुकता देखने को मिली।

हरदा-इंदिरा संग सेल्फी की होड़

कार्यक्रम में लोगों के बीच सेल्फी खींचने को लेकर होड़ मची रही। समर्थकों ने दोनों नेताओं को फूलमालाओं से लाद दिया, जिसके बाद एक घंटे तक उनके साथ फोटो सेशन का सिलसिला चला। हरदा के संग बाद में भी यही स्थिति थी।

कुंजवाल ने बांटा रायता

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष व वर्तमान में जागेश्वर विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल पार्टी में लगे व्यंजन स्टॉल पर खड़े होकर हर किसी को रायता बांटते दिखे, जिसके बाद कुछ अन्य पदाधिकारी भी इस काम में लग गए।

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस