नैनीताल, जेएनएन : बाजपुर नगर निकाय चुनाव में कांग्रेस ने जीत हासिल की है। प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने इसे पार्टी के लिए संजीवनी के समान बताया है। वहीं, काठगोदाम क्षेत्र में एक मकान के ऊपर मलबा गिरने से एक युवती की मौत हो गई, अन्य दो लोग घायल हैं। उधर, पर्यावरण संरक्षण को लेकर हाई कोर्ट ने एक अच्छा फैसला सुनाया है। अब पेड़ कील, स्टीकर व होर्डिंग्स आदि नहीं लगा सकेंगे। पढि़ए आज की महत्वपूर्ण खबरें...

कांग्रेस के गुरजीत सिंह के सिर बंधा जीत का सेहरा

बाजपुर (ऊधमसिंह नगर) : राज्य चुनाव आयोग द्वारा नियुक्त प्रेक्षक विनोद गिरि गोस्वामी की मौजूदगी में निर्वाचन अधिकारी एपी वाजपेयी ने देर सायं चुनाव परिणाम की घोषणा की। कांग्रेस के गुरजीत ङ्क्षसह गित्ते के विजयी होने की घोषणा होते ही पार्टी कार्यकर्ता व समर्थक झूम उठे। गित्ते ने भाजपा प्रत्याशी राजकुमार को 2990 मतों के अंतर से करारी शिकस्त दी। गित्ते को 9025 व राजकुमार को 6035 मत मिले। वहीं 13 वार्डों में से सात पर निर्दलीयों का कब्जा रहा तो भाजपा व कांग्रेस को तीन-तीन सीटों पर संतोष करना पड़ा। गित्ते के स्वागत में आए पूर्व सीएम हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश, जसपुर विधायक आदेश चौहान, कांग्रेस जिलाध्यक्ष जितेंद्र शर्मा, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष रीना कपूर, जिला सहकारी बैंक के पूर्व अध्यक्ष अविनाश शर्मा आदि ने कहा कि गुरजीत ङ्क्षसह गित्ते की जीत से पार्टी को प्रदेश में संजीवनी मिली है।

एक महिला की मौत, दो लोग घायल

हल्द्वानी : काठगोदाम के बद्रीपुरा में एक मकान में सेफ्टी वॉल समेत भारी बोल्डर व मलबा गिर गया। बद्रीपुरा क्षेत्र में शकीला बेग पत्नी स्व. एजाज बेग परिवार के साथ रहती है। बुधवार को उनके बेटे की बरसी थी। दोपहर में शकीला, उनकी बेटी रीना(25), देवरानी शबीना(40) पत्नी तहजीम व रीना की बेटी अनाया (4) बरसी का खाना बना रहे थे। करीब तीन बजे तेज बरसात के दौरान अचानक घर के पीछे के पहाड़ी में बनी सेफ्टी वॉल भरभराकर गिर पड़ी। सेफ्टी वॉल व मलबा शकीला के घर की दीवारें तोड़ते हुए भीतर घुस गया। हादसे के दौरान किसी को बचाव का मौका भी नहीं मिला। बुरी तरह दबी हुई रीना को निकलने में राहत टीम को आधा घंटे का समय लग गया। रीना को निकलकर पुलिस टीम बेस अस्पताल ले गई, जहां चिकित्सकों के मृत घोषित कर दिया। अन्य दोनों का इलाज चल रहा है।

हाई कोर्ट का पर्यावरण संरक्षण मामले में अहम आदेश

नैनीताल : हल्द्वानी निवासी सामाजिक कार्यकर्ता अमित खोलिया ने जनहित याचिका दायर कर कहा है कि राज्य की सड़कों के किनारे, सार्वजनिक स्थानों पर स्थित पेड़ों में होर्डिंग्स और बोर्ड लगाकर व्यावसायिक हित साधते हुए पर्यावरण को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रमेश रंगनाथन और न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ ने मामले को सुनने के बाद कुमाऊं-गढ़वाल के कमिश्नर को आदेश दिया है कि दोनों मंडलों में पेड़ों पर लगे स्टीकर, कील, तार और अन्य जो भी वस्तु पेड़ों को नुकसान पहुंचा रही है, उसे तत्काल हटाने के आदेश जारी करें। आदेश का अनुपालन नहीं करने वालों व अपने हितों के लिए पेड़ों को सूखाने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश पारित किया है।

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस