जागरण संवाददाता, नैनीताल : जिले में विकास योजनाओं की हकीकत परखने के लिए राज्य प्रशासन के मुखिया एसएस संधू पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि नैनीताल की पार्किंग की समस्या के जल्द समाधान के संकेत देते हुए कहा कि इस संबंध में शासनस्तर पर लंबित प्रस्तावों पर प्रभावी कार्रवाई होगी। नैनीताल समेत हिल स्टेशनों में पार्किंग समेत अन्य सुविधाओं का संतुलन इस तरह बैठाया जाएगा कि पार्किंग की वजह से जनता को दिक्कत न हो। सीएस ने साफ किया कि चुनी हुई सरकार रोजाना विकास योजनाओं की फीड बैक लेती रही है, उस हिसाब से योजनाएं बनाई जाती हैं।

शनिवार को नैनीताल एटीआइ में पहुंचे मुख्य सचिव डा. सुखबीर सिंह संधू ने संक्षिप्त वार्ता में कहा कि हिल स्टेशनों की पार्किंग व अन्य समस्याओं को लेकर सरकार व शासन बेहद गंभीर है। जिला प्रशासन की ओर से भेजे गए प्रस्तावों का परीक्षण किया जा रहा है। मुख्य सचिव ने जिले की समस्याओं तथा विकास योजनाओं के क्रियान्वयन को जानने व देखने के लिए दौरे पर आए हैं। जिला प्रशासन के साथ विस्तार से चर्चा कर शासन स्तर पर लंबित योजनाओं को पूरा किया जाएगा। कोविड के बीच पर्यटन गतिविधियों को सुचारु बनाए रखना चुनौती बताते हुए कहा कि शासन स्तर पर इससे निपटने के लिए रोजाना अधिकारियों के साथ वार्ता की जा रही है। जिसके आधार पर ही जरूरत के मुताबिक हर सप्ताह नयी एसओपी जारी की जा रही है।

रोडवेज की परिसंपत्तियों के बंटवारे के सवाल पर कहा कि परिवहन निगम के एमडी व परिवहन सचिव उत्तर प्रदेश के अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं। जल्द सकारात्मक हल निकलने की उम्मीद है। हाई कोर्ट में सरकार द्वारा कमजोर पैरवी के सवाल पर कहा कि सरकार और अधिकारी प्रमुखता से कोर्ट में पक्ष रख रहे है। इससे पहले डीएम धीराज गब्र्याल, एमडी केएमवीएन एनएस भंडारी, एसएसपी प्रीति प्रियदर्शनी अपर आयुक्त संजय खेतवाल, सीडीओ डा. संदीप तिवारी, एसडीएम प्रतीक जैन, एटीआइ के संयुक्त निदेशक दिनेश राणा, उपनिदेशक वीके सिंह, रेखा कोहली, आदि मौजूद थे।

Edited By: Skand Shukla