हल्द्वानी, जागरण संवाददाता : हल्‍द्वानी के आजादनगर के वार्ड नंबर 25 में रहने वाले लोगों का रेलवे के नोटिस आने के बाद से सुकून छिना हुआ है। बीपीएल व अंत्योदय कार्ड नहीं बन पा रहे हैं। जिससे इनको सरकार से मिलने वाली सुविधाओं का लाभ भी नहीं मिल रहा। क्षेत्र में जर्जर हाल व तिरछे पोल खतरा बने हुए हैं। जल निगम ने अमृत योजना के तहत क्षेत्र में पेयजल व सीवर लाइनों को बिछाने का काम तो शुरू कराया, लेकिन अब तक इसे पूरा नहीं किया गया है। इससे लोगों को काफी असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है। 

वार्ड नंबर 25 मुस्लिम बाहुल्य इलाका है। घनी आबादी वाला यह इलाका कई समस्याओं से जूझ रहा है। क्षेत्रवासियों के मुताबिक दशकों से रह रहे लोगों की भूमि पर रेलवे अपना मालिकाना हक बताकर बेदखली के नोटिस भेज रहा है। इससे हर किसी के मन में बेघर होने का भय बना हुआ है। क्षेत्रवासियों के कई बार प्रदर्शन के बावजूद विद्युत सुरक्षा के इंतजाम नहीं किए गए हैं। जगह-जगह तारों का जाल बना हुआ है और पोल झुके हैं। यहां की अधिकांश जनता गरीब है, लेकिन उनके बीपीएल व अंत्योदय कार्ड नहीं बन पा रहे हैं। सरकार ने कुछ समय पूर्व गरीबों को मात्र 100 रुपये में पेयजल कनेक्शन देने का आदेश जारी किया है, लेकिन गरीबी रेखा से नीचे का कार्ड न होने से योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। 

रेलवे प्रशासन की ओर से बेदखली के नोटिस आने से क्षेत्रवासी भयभीत हैं। अब तक रेलवे व नगर निगम ने जमीन का सीमांकन नहीं किया है। रेलवे बोर्ड में सुनवाई भी पूरी नहीं हुई है। 

-बंटी गफ्फारी, वार्ड नंबर 25 

क्षेत्र में बिजली के तारों के जाल बने हुए हैं। जिस कारण अक्सर फाल्ट आता है और घंटों तक लोग बिना बिजली के रहते हैं। झूलते तार व जर्जर हाल तिरछे पोलों से कभी भी हादसा व जनहानि हो सकती है। 

- नाजिम अंसारी, वार्ड नंबर 25 

क्षेत्र में आबादी के हिसाब से सफाई कर्मचारियों की तैनाती नहीं की गयी है। जिस कारण गलियों में गंदगी के ढेर जमा रहते हैं। क्षेत्रवासी इस समस्या को कई बार नगर निगम प्रशासन के सामने उठा चुके हैं। 

- नासिर मिकरानी, वार्ड नंबर 25 

क्षेत्र की गरीब जनता के बीपीएल या अंत्योदय कार्ड नहीं बन पा रहे हैं। इससे उनको सरकार से मिलने वाली योजनाओं के लाभ से वंचित रहना पड़ रहा है। सैकड़ों लोग बिना पेयजल कनेक्शन के जीवन यापन कर रहे हैं। 

- रिजवान कुरैशी, वार्ड नंबर 25 

क्षेत्र में सीवर, गंदगी की काफी समस्या है। बिजली के काफी अधिक बिल आने से लोग परेशान हैं। अक्सर ऊर्जा निगम छापामारी कर रहा है, लेकिन बिलों में संशोधन नहीं किया जा रहा है।

- अब्दुल वहीद सिद्दीकी, वार्ड नंबर 25 

क्षेत्र में सीवर लाइन बिछाने का काम 70 फीसद और पेयजल लाइन का 80 फीसद होना है। राशन कार्डों को आनलाइन कराने में काफी दिक्कतें आ रही हैं। गरीबों के बीपीएल व अंत्योदय कार्ड नहीं बन पा रहे हैं। क्षेत्र की समस्याओं को दूर करने के लिए लगातार नगर निगम व सरकारी महकमों में जाकर फरियाद की जा रही है। 

- जीशान परवेज, पार्षद, वार्ड नंबर 25

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें