संवाद सहयोगी, भीमताल : यहां तोक गांव एक्वा के ग्रामीणों की लगभग दो साल पुरानी मांग अब पूरी हो गई है। एक्वा का क्षेत्र अब ग्राम पंचायत हरिनगर में सम्मलित जाएगा। इससे गांव में खुशी का माहौल है।

जिला पंचायत सदस्य अनिल चनौतिया के मुताबिक मामला दो वर्ष पूर्व का है। भीमताल नगर पंचायत क्षेत्र के विस्तार के शासनादेश के दौरान जब नौकुचियाताल, सातताल, जौंस स्टेट, भरतपुर थपलियामहरा गांव आदि क्षेत्र को नगर पंचायत में सम्मलित किया गया तो वहीं तत्कालीन अधिकारियों द्वारा भूल वश एक्वा तोक के मतदाताओं को भी नगर पंचायत में शामिल कर दिया गया। जबकि एक्वा तोक थपलिया मेहरागांव से काफी दूर है। स्थानीय निवासियों द्वारा उन्हें नगर पंचायत से अलग करने की मांग की जा रही थी। नगर पंचायत चुनाव के दौरान पूरा एक्वा क्षेत्र मतदान के विरोध में उतर गया और चुनाव का बहिष्कार कर डाला। यहां मात्र एक मतदाता ने वोट का प्रयोग किया, बाकी दो सौ से अधिक मतदाता नगर पंचायत के विरोध में ही रहे।

इधर नगर पंचायत बोर्ड बैठक के दौरान शहर से अधिक दूरी होने के कारण एक्वा को पास की ग्राम सभा में सम्मलित करने का प्रस्ताव पारित किया गया। बोर्ड बैठक में प्रस्ताव पास होने के बाद भी बात नहीं बनी। अब ब्लाक से भी अनुमति लेनी बाकी थी। खंड विकास अधिकारी दिनेश दिगारी और नगर पंचायत के ईओ विजय बिष्ट ने ग्रामीणों को व्यवहारिक तौर पर सुविधाएं उपलब्ध हों इसलिये एक्वा को नगर पंचायत से अलग करने का सुझाव दिया। इधर ग्राम पंचायत द्वारा ग्रामीणों को हरिनगर में सम्मलित करने की कार्यवाही प्रारंभ की गई है। क्षेत्र के निवासियों ने नगर पंचायत अध्यक्ष देवेन्द्र चनौतिया, जिपं सदस्य अनिल चनौतिया और बोर्ड के सभी मेंबरों का प्रस्ताव पास करने के लिए आभार जताया है।

-------

पूर्व में ही एक्वा ग्रामीण क्षेत्र में था। दो साल पूर्व एक्वा को नगर पंचायत में सम्मलित कर दिया गया था। व्यवहारिक रूप से एक्वा नगर पंचायत से काफी दूर है। ऐसे में ग्रामीणों के द्वारा पुन ग्रामीण क्षेत्र में सम्मलित होने के लिए जो जरूरी अनुमति की आवश्यकता थी वह ब्लाक और नगर पंचायत से हो गई है। अब एक्वा के निवासियों के परिवार रजिस्टर को हरिनगर ग्रामसभा में सम्मलित करने की कार्यवाही की जा रही है।

-आरपी टम्टा, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस