जागरण संवाददाता, हल्द्वानी: अंकिता भंडारी हत्याकांड के बाद होटल व रिसार्ट पुलिस की राडार पर हैं। कुमाऊं के 96 होटल और 19 रिसार्ट में मानकों को ठेंगा दिखाया गया है। पुलिस ने 58 मालिकों को नोटिस थमाकर आठ होटल व रिसार्ट को सीज कर दिया है। 1.44 लाख रुपये जुर्माना भी वसूला है।

शनिवार को डीआइजी डा. नीलेश आनंद भरणे ने प्रेसवार्ता में बताया कि कुमाऊं में होटल, रिसार्ट, होम स्टे व स्पा सेंटर में छापा मारने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि कुमाऊं 1024 होटल, 253 रिसार्ट, 793 होम स्टे व 46 स्पा सेंटर पंजीकृत हैं। अब तक 901 होटल में चेकिंग करने पर 96 में अनियमित्ता मिली है।

इसी तरह 240 रिसार्ट में से 19 में गड़बड़ी पाई गई। 327 में से 14 होम स्टे व 27 में से चार स्पा सेंटर में अनियमित्ताएं पाई गई। 78 होटल व रिसार्ट में पुलिस अधिनियम में कार्रवाई हो चुकी है। डीआइजी ने बताया कि कई रिसार्ट मानकों को ताक पर रखकर चल रहे हैं।

प्रशासन की मदद से इन रिसार्ट पर जल्द कार्रवाई की जाएगी। होटल व रिसार्ट में काम करने वाले कर्मचारियों का पुलिस सत्यापन करने व पर्यटकों की एंट्री कर आइडी लेने के निर्देश सभी थानों को दिए हैं। महिला कर्मचारियों के काम करने की टाइमिंग सेट कर रिसेप्शन में पुलिस का नंबर रखा जाएगा।

7243 लोग रिसार्ट व होटलों पर निर्भर

पुलिस की चेकिंग के दौरान कर्मचारियों का सत्यापन किया। इस बीच सामने आया है कि कुमाऊं के 7243 लोग रिसार्ट व होटलों पर निर्भर हैं। नैनीताल जिले में सबसे अधिक 4549 लोग कार्यरत हैं। अल्मोड़ा में 579, बागेश्वर में 271, पिथौरागढ़ में 427, चम्पावत में 258 व ऊधमसिंह नगर में 1159 लोग शामिल हैं।

821 महिलाएं कर रही नौकरी

रिसार्ट व होटल में कुमाऊं की 821 महिलाएं काम कर रही हैं। इसमें अधिकांश महिलाएं इंटर पास या ग्रेजुएट हैं। वहीं पुरुषों की संख्या महिलाओं से कई गुना अधिक है। 8623 पुरुष रिसार्ट व होटल में नौकरी कर रहे हैं।

Edited By: Skand Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट