जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : गौलापार में कई जगहों पर समुदाय विशेष की कालोनी का प्रचार करने से जुड़े पोस्टर चस्पा होने से लोगों में भारी आक्रोश है। गुरुवार को गांव में बैठक करने के बाद ग्रामीणों ने पुलिस व प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर आरोपितों पर कार्रवाई करने के साथ कालोनी की जांच की मांग भी की। सूचना पर हिंदूवादी संगठनों से जुड़े लोग भी काठगोदाम थाने पहुंच गए। वहीं, समुदाय विशेष का मामला होने के कारण खुफिया एजेंसी भी जांच में जुट गई हैं।

ग्रामीणों के मुताबिक, बुधवार शाम लोगों ने देखा कि ग्राम पंचायत देवला-तल्ला के तहत आने वाले मेहरा फार्म में जगह-जगह कालोनी के प्रचार से जुड़े पोस्टर चस्पा थे। चोरगलिया रोड पर इन पोस्टरों को लगाया गया था, जिसमें गौलापार के कुंवरपुर क्षेत्र में समुदाय विशेष से जुड़ी कालोनी में प्लाटों की बिक्री का जिक्र किया गया था। गुरुवार सुबह ग्रामीणों ने बैठक के बाद काठगोदाम एसओ विमल मिश्रा और एसडीएम मनीष कुमार को ज्ञापन सौंपा।

कहा कि कुछ लोग अवैध तरीके से कालोनी बसाने की साजिश में जुटे हैं। अगर पुलिस-प्रशासन ने समय रहते कार्रवाई नहीं की तो क्षेत्र का माहौल बिगड़ सकता है। लिहाजा, पूरे प्रकरण की जांच कर आरोपितों पर कार्रवाई की जानी चाहिए। आक्रोश जताने वालों में पूर्व प्रधान त्रिलोक सिंह नौला व हरेंद्र बिष्ट, संध्या डालाकोटी, किरन डालाकोटी, नीरज सिंह रैक्वाल, बालम सिंह बिष्ट, धर्मेंद्र सिंह रैक्वाल, कमल मुनि जोशी, चंदू पलडिय़ा, मोहन रावत, प्रकाश टम्टा, राजेंद्र सिंह नौला, खीम सिंह, जोगेंद्र राणा आदि शामिल थे।

डीआइजी बोल, गोपनीय जांच कराई जाएगी

डीआइजी कुमाऊं नीलेश आनंद भरणे ने कहा कि ग्रामीणों की शिकायत को पूरी गंभीरता से लिया जाएगा। मामले की गोपनीय जांच भी करवाई जाएगी। पूर्व ग्राम प्रधान त्रिलोक सिंह नौला का कहना है कि पूर्व में गांव में इस तरह के विवाद में बड़ा बवाल हो चुका है। प्रचार सामग्री चस्पा करने वाले के खिलाफ कार्रवाई करने के साथ कालोनी में मानकों की सही से जांच भी होनी चाहिए।

Edited By: Skand Shukla