जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : कोरोना महामारी के बीच दवाओं व जरूरी उपकरणों की कालाबाजारी करने वालों को कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि ऐसा करने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सरकार ऐसे लोगों पर पैनी नजर बनाए हुए है। कहीं से भी दवाओं व उपकरणों की जमाखोरी और कालाबाजारी सामने आने पर प्रशासन को आपदा एक्ट में कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।

भगत ने कहा है कि ऐसी खबरें आ रही हैं कि कोरोना संकट में रेडमेसिविर इंजेक्शन, ऑक्सीमीटर की कालाबाजारी हो रही है। जिससे बाजार में इनकी किल्लत है और जरूरतमंदों की जेब पर डाका डाला जा रहा है। भगत ने कहा कि इन बातों का त्वरित संज्ञान लेते हुए प्रशासन को सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं। मरीजों की जान से खिलवाड़ व मजबूरी को अवसर बनाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। कोरोना कफ्र्यू के दौरान आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी के मामले को भी भगत ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा है कि सरकार सुनिश्चित कर रही है कि जनता को संकट के समय किसी तरह की समस्या न हो। बाजारों में तय मूल्यों पर जरूरी सामान उपलब्ध कराया जा रहा है। कोई दुकानदार मनमर्जी के दाम वसूलता पाया जाता है तो उसके खिलाफ लाइसेंस रद करने की कार्रवाई की जाएगी।

मंत्री बंशीधर भगत ने जनता से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के खतरे को देखते हुए बेवजह घरों से बाहर न निकलें। जरूरी होने पर ही घरों से बाहर निकलें। इस दौरान दो गज की दूरी, मास्क पहनने का नियम का पालन करें। हाथों को बार-बार सैनिटाइज करें। सजगता व सावधानी से ही कोरोना को हराया जा सकता है।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने फ्रंटलाइनर्स को बांटा जूस

सेवा ही संगठन अभियान के तहत भाजपा कार्यकर्ता फ्रंटलाइन वर्कर्स को जूस व पानी की सेवा कर रहे हैं। भाजपा हल्द्वानी उत्तरी मंडल के अध्यक्ष नवीन पंत के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने शहर के मुख्य चैराहों पर ड्यूटी दे रहे जवानों को जूस व पानी बांटा। भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट राहत सामग्री के साथ कार्यकर्ताओं को रवाना किया। अभियान में नगर महामंत्री ज्ञानेंद्र जोशी, उपाध्यक्ष अंशुल पांडे, मंत्री अनिल चंदोला, प्रेमलता पाठक, आरती कपूर, रचना शाह मौजूद रहे। भाजपा महिला मोर्चा की नगर अध्यक्ष दीप्ति चुफाल व उनकी टीम ने दमुवाढूंगा पनचक्की चैराहा, मल्ली बमौरी, आवास विकास आदि इलाकों में मास्क, ग्ल्ब्ज, सैनिटाइजर आदि वितरित किया।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें